About Us

हमारा उद्देश्य
उत्तराखण्ड देवों की भूमि है, यहाँ के मठ-मंदिर, प्राकृतिक सौंदर्य और मध्य हिमालय की गोद में दूर तक फैले हरे घास के मनोहारी बुग्याल , ऊंचे पहाड़ों से अठखेलियाँ खेलते गिरते झरने, कही खामोशी से अम्बर पर टकटकी लगाये तालाब, यहां की शुद्ध आबोहवा देश दुनियां के किसी भी कोने में बैठे व्यक्ति को आकर्षित करती है। यही कारण है कि हर साल यहां देश-विदेश के लाखों तीर्थयात्री एवं पर्यटक यहां पहुंचते हैं और पहाड़ की खूबसूरती का दीदार करते हैं।  लेकिन इससे इतर कई ऐसे मठ मंदिर, पर्यटक स्थल और हसीन खूबसूरत वादियां हैं जो अभी पर्यटकों और तीर्थाटनों की नजरों से दूर हैं। 

हमारा उद्देश्य ऐसे स्थानों को देश-दुनियां के सामने लाना है ताकि इन छुपे हुए खूबसूरत स्थलों तक पर्यटकों एवं तीर्थाटनों की पहुंच आसान हो सके और यहां अधिक से अधिक संख्या में लोग पहुंचें, इससे न केवल राज्य की आर्थिकी बढ़ेगी बल्कि इन क्षेत्रों के स्थानीय लोगों को भी रोजगार मुहैया होगा। दूसरी तरफ भले ही पहाड़ प्रकृति की बेपनाह नेमतों से परिपूर्ण हो लेकिन समस्याओं और अभावों से ग्रस्त है, यहां के लोगों को हर रोज बुनियादी सुविधाओं के लिए संघर्ष करना पड़़ता है।   

20 सालों से उत्तराखण्ड को अपनी स्थाई राजधानी नहीं मिली है, जिस कारण हुक्मरान समस्याग्रस्त पहाड़ चढ़ने को तैयार नहीं हैं और यहां के लोग लगातार पहाड़ छोड़ने के लिए विवश हो रहे हैं। हमारी कोशिश रहेगी कि हम पहाड़ के दर्द, पीड़ा और दबे कुचले शोषित पीड़ित वर्ग की आवाज को सरकारों तक पहुचाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभायें,  ताकि इन वंचितों को न्याय मिल पाये। इसके अलावा समसामयिक विषयों, घटनाक्रमों पर पूरी निष्पकक्षता, पारदर्शिता और सही तत्थों के साथ रिर्पोट प्रकाशित की जायेंगी। साथ ही उत्तराखण्ड की संस्कृति परम्परा, लोक जीवन और यहां की सभ्यताओं को अधिक से अधिक प्रसारित करने, नई प्रतिभाओं को उभारने और सकारात्मक प्रयोगों के सृजन के लिए कार्य किया जायेगा।
हमारे कार्य 
हमारे मुख्य कार्य- साहित्यिक गतिविधियों को एक मंच प्रदान करना है। 
समाज में फैली विसंगतियों को समाज के और नीति नियंताओं-सरकारों के सामने लाकर  इन्हें दूर करना है। 
व्यवस्था और तंत्र की खामियां को उजागर कर उन्हें दूर करन है। समाज के दबे-कुचले वर्ग, जो अभावों से ग्रसित हो, लोकतांत्रिक देश में उसे उसका हक न मिल रहा हो, जिसकी समस्याओं और पीड़ा को सरकारें न सुन रही हो, उसकी आवाज सरकार तक पहुंचाना।
 अपनी संस्कृति, सभ्यता, रिति-रिवाज को जिंदा रखने के लिए उसे प्रोत्साहित करना। 
नई प्रतिभाओं को उभारने के लिए मंच प्रदान करना।
हमारे आस-पास की सभी प्रकार की घटनाएं और गतिविधियों को प्रकाशित किया जायेगा।
---------------------------------------------------------
आप खबर सीधे हमें ई-मेल भी कर सकते हैं-
kedarkhandexpress@gmail.com
--------------------------------------------------------
हेड आॅफिस- केदारखण्ड एक्सप्रेस,
सचिदानंद नगर, निकट आर्मी कैंम्प,
बद्रीनाथ रोड़ रूद्रप्रयाग-246171
-------------------------------------------------
हमारी टीम-
चमोली: पुष्कर नेगी 9760918184
जोशीमठ: संजय कुँवर 9837980379
उर्गम घाटी: रघुवीर नेगी 9412964230
पोखरी: नीरज कण्डारी 8979943439
कर्णप्रयाग- सतेन्द्र पुण्डीर 9634379114
रूद्रप्रयाग: भूपेन्द्र भण्डारी 9627403019
बसुकेदार: भानू भट्ट 9917725550
अगस्त्यमुनि: शिवानंद नौटियाल 7830467496
उखीमठ- लक्ष्मण सिंह नेगी 8477949796
पौड़ी: भगवना सिंह 9557885457
टिहरी: बलवंत रावत 9758344195
हल्द्वानी: अंकित साह 9627370958
देहरादून: प्रिंशा बत्र्वाल

हमसे सम्पर्क करें
 kedarkhandexpress@gmail.com 
https://m.facebook.com/photo.php?fbid=100492004659498&id=100040960951182&set=a.100492017992830&source=48&ref=bookmarks
kedarkhandexpress.in
mo- 7500871627
About Us About Us Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on February 20, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.