Breaking News

Sunday, 13 November 2022

मरीजों के साथ अभद्र व्यवहार पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक सख्त, अंतिम चेतावनी दी




मरीजों के साथ अभद्र व्यवहार पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक सख्त, अंतिम चेतावनी दी

डैस्क केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज 

रूद्रप्रयाग। जिला चिकित्सालय में आकस्मिक, गाइनी  के साथ ओपीडी अनुभाग द्वारा मरीजों और उनके तीमरदारों के साथ अभद्रता की शिकायती आती रहती हैं। खास तौर पर जिला चिकित्सालय में गाइनी स्टॉफ के साथ ही महिला डॉक्टरों का अकडैल और अभद्र व्यवहार मरीज को और भी परेशान कर देते हैं। इसी को देखते हुए जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. राजीव सिंह पाल द्वारा सख्त एक्शन लेते हुए अस्पताल के समस्त कर्मचारियों एवं डॉक्टरों को हिदायत दी गई कि मरीजों एवं उनके परिजनों के साथ किसी भी तरह की अभद्रता एवं ड्यूटी से अनुपस्थित पाये जाने पर संबंधित के विरूद्ध उच्चाधिकारियों को संज्ञान में लेकर आचरण/व्यवहार नियमावली के तरह कार्यवाही की जायेगी। 


मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. राजीव पाल ने बताया कि चिकित्सालय में गरीब एवं उनके साथ आये तीमारदार अनेक परेशानियों और दिक्कतों का सामना करते हुए इस आकांक्षा/अभिलाषा के साथ चिकित्सालय आते हैं कि उनका रोगी यथासमय स्वस्थ होकर घर आये। इसके लिए चिकित्सालय में कार्यरत चिकित्साधिकारियों/स्टॉफ एवं अन्य सहयोगी स्टॉफ को रोगियों एवं उनके साथ आये तीमारदारों के साथ सौम्य मृदुल भाषा का प्रयोग करते हुए सौहार्दपूर्ण माहौल में समुचित चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध करानी होगी, ताकि रोगी प्रारंम्भिक पड़ांव में ही मानसिक रूप से परिपक्कव होकर उपचार करा सके। लेकिन ऐसा होता नहीं है। आए दिन जिला अस्पताल की आकास्मिक ड्यूटी पर तैनात स्टॉफ, गाइनी और ओपीडी अनुभाग में तैनात चिकित्साधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा मरीजों के साथ सही बताव नहीं किया जा रहा है। 8 व 13 नवम्बर को भी मरीजों के साथ अभद्रता की शिकायतें मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को मिली हैं जबकि इससे पूर्व भी जनप्रतिनिधियों, पत्रकारों और मरीजों के परिजनों द्वारा शिकायतें की जा चुकी हैं। खास तौर पर गाइनी में महिला स्टॉफ द्वारा सीधे मुँह तक मरीजों से बात नहीं की जाती हैं। 


लगतार मिल रही शिकायतों को देखते हुए मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ राजीव सिंह पाल एक्शन में आ गए हैं। उन्होंने चिकित्सालय के समस्त स्टॉफ को आखिरी हिदायत दी है। उन्होंने जारी किए गए पत्र में कहा कि भविष्य में किसी भी चिकित्साधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा मरीजों एवं उनके तीमारदारों के साथ अभद्रता की गई तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी।  

No comments: