Breaking News

Monday, 14 November 2022

इश्क का ऐसा खूनी अंजाम, जिसके साथ जीने की कसम खाई 35 टुकडे कर दिये उसके

 


इश्क का ऐसा खूनी अंजाम, जिसके साथ जीने की कसम खाई 35 टुकडे कर दिये उसके


-डैस्क : केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़

मुंबई के आफ़ताब और श्रद्धा एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे, दोनों साथ दिल्ली रहने आये! कुछ दिन एक साथ रहने के बाद श्रद्धा ने शादी की बात की तो आफताब ने एक फ्रिज ख़रीदा, श्रद्धा के 35 टुकड़े करके उसमें रख दिया! और 18 दिन तक रोज़ रात में श्रद्धा की लाश के टुकड़ों को महरौली के जंगलों में फेंकता रहा!

Such a bloody outcome of love, with whom he vowed to live, broke 35 pieces into his

कुमारी श्रद्धा है जो आफताब पूनावाला से प्यार करती थी

श्रद्धा के परिजन इस रिश्ते का विरोध करते थे. तो श्रध्दा कहती मेरा आफ़ताब ऐसा नहीं इसके उपरांत Shraddha ये कह कर घर से निकली थी कि वो बड़ी हो गई है और अपने निर्णय खुद ले सकती है। इसके बाद श्रद्धा ने घर छोड़ दिया और आफताब के साथ लिव इन में रहने लगी। 


श्रद्धा ने आफताब पर शादी का दवाब बनाया तो आफताब ने श्रद्धा के 35 टुकड़े किए और दिल्ली में 18 अलग-अलग जगहों पर फेंक दिए।हैआफताब ने श्रद्धा के किए 35 टुकड़े.. और 18 दिनों तक फ्रिज में रखा। 300 लीटर वाला फ्रिज खरीदा, बदबू दबाने के लिए जलाता था अगरबत्ती… जिस कमरे में रखे थे श्रद्धा के टुकड़े, वहीं Zomato से खाना मँगा कर खाता था आफताब मोहब्बत में जान देने के कई किस्से सुने होंगे लेकिन एक प्रेमी अपनी प्रेमिका की ऐसी हत्या करता है जिसे सुनकर रोंगटे खड़े हो जाते हैं। राजधानी दिल्ली में 6 महीने पहले हुई हत्या का खुलासा दिल्ली पुलिस ने किया है। इस हत्या की कहानी जानकर पुलिस ही नहीं आम लोग भी हैरान हैं। आफताब और श्रद्धा की दोस्ती मुंबई के एक कॉल सेंटर में हुई, दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में तब्दील हुई। इन दोनों के परिवारवालों को जब इसकी खबर लगी तो यह दोनों भागकर दिल्ली आ गए।श्रद्धा दिल्ली चली आई लेकिन उसके परिवार वाले उसकी खबर सोशल मीडिया के जरिए लेते रहे लेकिन जब वहां अपडेट आना बंद हुआ तब लड़की के पिता दिल्ली आए। बेटी के नहीं मिलने पर उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस से की। पुलिस को लड़की के पिता ने बताया कि उसकी बेटी कॉल सेंटर में काम करती थी और यहां इसकी दोस्ती आफताब से हुई। आफताब के साथ वह दिल्ली आ गई और छतरपुर इलाके में रहने लगे। जब कुछ दिनों बाद श्रद्धा के समाचार नहीं मिला तो दिल्ली पुलिस ने आफताब की तलाश करने लगी।


पुलिस को जो इनपुट मिला उसके आधार पर आफताब को पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि श्रद्धा उसपर लगातार शादी का दबाव बना रही थी जिससे उनके बीच झगड़ा शुरू हो गया। उसने मई के महीने में हत्या कर शव के टुकड़े कर कई जगहों पर फेंक दिया।


राजधानी दिल्ली में एक दिल दहलाने वाली वारदात सामने आई है। पांच महीने पहले हुई इस वारदात के खुलासे में जो जानकारी सामने आई है ओ हिलाकर रख देने वाली है। आफताब नामक एक व्यक्ति ने 1500 किलोमीटर से दूर आकर अपनी लिव इन पार्टनर श्रद्धा की बड़ी ही बेरहमी से हत्या कर दी। दिल्ली पुलिस ने इस कत्ल की गुत्थी को सुलझाते हुए पांच महीने बाद आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को हिरासत में ले लिया है। पुलिस अब मृतक श्रद्धा के शरीर के उन टुकड़ों को आफताब के जरिए ढूंढ रही है, जिन्हें आरोपी ने हत्या करने के बाद अलग-अलग स्थानों पर फेंक दिया था। जांच में यह भी सामने आया है कि रोज रात में आरोपी 2:00 बजे सबके टुकड़ों को फेंकने के लिए फ्लैट से निकलता था और उसने सबको फ्रिज में रखने के लिए 300 लीटर का फ्रिज खरीदा था


पूरे घटनाक्रम की जानकारी देती हो साउथ दिल्ली के एडिशनल डीसीपी अंकित चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि श्रद्धा के पिता ने नवंबर के महीने में अपनी बेटी के अपहरण की एफआईआर दिल्ली के महरौली थाना में दर्ज कराई. श्रद्धा के पिता ने आरोप लगाया कि उसकी बेटी मुंबई के कॉल सेंटर में काम करती थी जहां उसकी मुलाकात आफताब नाम के एक शख्स से हुई और दोनों की दोस्ती काफी नजदीकी में तब्दील हो ग. दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे लेकिन परिवार वाले इस बात से खुश नहीं थे जिसके चलते उन्होंने इसका विरोध किया. श्रद्धा के पिता की शिकायत पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी. पुलिस मुखबिर और टेक्निकल सर्विलांस की मदद से आफताब की तलाश में जुट गई, जिसके बाद एक गुप्त सूचना के आधार पर आफताब को धर दबोचा गया. पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि श्रद्धा उसपर लगातार शादी का दबाव बना रही थी जिसको लेकर उनके बीच में अक्सर झगड़ा होना शुरू हो गया. इन चीजों से तंग आकर उसने मई के महीने में बेरहमी से उसकी हत्या कर डाली और शव के टुकड़े कर अलग-अलग जगह पर जंगल में फेंक दिए. पुलिस ने आरोपी आफताब को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है.


 


पुलिस ने बताया कि आरोपी आफताब और श्रद्धा के बीच 18 मई को झगड़ा हुआ. झगड़े के दौरान श्रद्धा चिल्ला रही थी, उसकी आवाज आस-पड़ोस के लोग ना सुन सकें इसके लिए आरोपी आफताब ने श्रद्धा का मुंह दबा दिया और इसी दौरान श्रद्धा की मौत हो गई. श्रद्धा को मरा हुआ देखकर आफताब घबरा गया जिसके बाद आफताब ने श्रद्धा की लाश ठिकाने लगाने की सोची और आरी से श्रद्धा के शरीर के करीब 35 टुकड़े कर डाले. आरोपी आफताब ने श्रद्धा के शव के टुकड़ों को एक-एक करके 18 दिन तक महरौली के जंगलों में फेंकता रहा. आरोपी इतना शातिर था कि 18 दिनों तक श्रद्धा के शव के टुकड़ों में से बदबू ना आए, इसके लिए उसने बाजार से 300 लीटर का एक बड़ा फ्रिज खरीदा और उस फ्रिज में श्रद्धा के शव के टुकड़ों को रखा था फिलहाल इस पूरे मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और उससे लगातार पूछताछ की जा रही है वही जिस जगह उसने शव को काट काट कर टुकड़ों को फेंका था वहां पर भी पुलिस छानबीन कर रही है|

No comments: