Breaking News

Sunday, 9 October 2022

कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या की प्लानिंग का पर्दाफाश


कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या की प्लानिंग का पर्दाफाश

-डैस्क : केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़

उत्तराखंड। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के कैबिनेट मंत्री को जान से मारने की साजिश रची गई है। उत्तराखंड के गन्ना विकास एवं पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या की साजिश रचने का सनसनीखेज खुलासा हुआ है। इस षडॺंत्र में तांत्रिक समेत चार लोग शामिल हैं। मुख्य आरोपी ने तांत्रिक को साढ़े पांच लाख रुपये एडवांस दे डाले।

इसके बाद आरोपी, मंत्री के आवास पर मंडराने लगे। समय रहते कैबिनेट मंत्री बहुगुणा को इसकी भनक लग गई व षडॺंत्रकारियों के खतरनाक मंसूबे विफल हो गए। मंत्री के सितारगंज प्रतिनिधि की तहरीर पर पुलिस ने चार आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा को जान से मारने की साजिश, एडवांस रकम भी लिया। 

ऐसे खुला राज

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के कैबिनेट मंत्री को जान से मारने की साजिश रची गई है। उत्तराखंड के गन्ना विकास एवं पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या की साजिश रचने का सनसनीखेज खुलासा हुआ है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा को जान से मारने की साजिश, एडवांस रकम भी लिया; ऐसे खुला राज

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के कैबिनेट मंत्री को जान से मारने की साजिश रची गई है। उत्तराखंड के गन्ना विकास एवं पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या की साजिश रचने का सनसनीखेज खुलासा हुआ है। इस षडॺंत्र में तांत्रिक समेत चार लोग शामिल हैं। मुख्य आरोपी ने तांत्रिक को साढ़े पांच लाख रुपये एडवांस दे डाले।

इसके बाद आरोपी, मंत्री के आवास पर मंडराने लगे। समय रहते कैबिनेट मंत्री बहुगुणा को इसकी भनक लग गई व षडॺंत्रकारियों के खतरनाक मंसूबे विफल हो गए। मंत्री के सितारगंज प्रतिनिधि की तहरीर पर पुलिस ने चार आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

चार माह पहले जेल में बनाया प्लान: कैबिनेट मंत्री की हत्या की साजिश चार महीने पूर्व हल्द्वानी जेल में रची गई थी। बताया जा रहा है कि सिडकुल क्षेत्र में सरकारी जमीन कब्जाने के आरोप में हीरा सिंह निवासी कोटा फार्म, सितारगंज के खिलाफ मुकदमा हुआ था। पुलिस ने हीरा सिंह को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया जहां से 13 अप्रैल को उसे हल्द्वानी जेल भेज दिया गया था। हीरा सिंह अपनी गिरफ्तारी और खनन का कारोबार बंद होने के लिए कैबिनेट मंत्री बहुगुणा को जिम्मेदार मानता था।

इसके बाद दोनों ने मंत्री को रास्ते से हटाने का षड्यंत्र रचा। जमानत पर छूटने के बाद प्लान के अनुसार, हीरा सिंह ने सतनाम के परिचित सितारगंज निवासी हरभजन सिंह से मुलाकात की। जिसने हीरा सिंह को किच्छा निवासी तांत्रिक मो.अजीज उर्फ गुड्डू से मिलवाया। हीरा सिंह ने कैबिनेट मंत्री को वश में करने या रास्ते से हटा देने के लिए तांत्रिक को एडवांस के तौर पर करीब 5.50 लाख रुपये भी दे दिये।

मंत्री आवास की रेकी भी की: आरोपियों ने षडॺंत्र को अंजाम देने के लिए मंत्री के आवास की रेकी भी की। हीरा सिंह तीन दिन पहले एक स्थानीय जनप्रतिनिधि के साथ कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा के आवास पर पहुंचा था। उसने मंत्री से रोजगार के मुद्दे पर बात भी की थी। मंत्री ने हीरा के अपने आवास पर आने की पुष्टि की। बताया जाता है कि सतनाम भी इन दिनों पैरोल पर जेल से बाहर है। उसके भी एक अक्तूबर से सितारगंज में ही होने की जानकारी मिल रही है।

मंत्री को शुभचिंतक ने दी जानकारी इस बीच मंत्री के कुछ करीबी लोगों को संदिग्ध गतिविधियों को लेकर संदेह हुआ। उन्होंने इसकी पड़ताल की तो उन्हें मंत्री के खिलाफ षडॺंत्र रचे जाने की भनक लग गई।

तीन अक्तूबर से कैबिनेट मंत्री बहुगुणा अपने विधानसभा क्षेत्र सितारगंज के दौरे पर थे। इसी दौरान मंत्री के एक शुभचिंतक ने उन्हें, उनकी हत्या की साजिश रचे जाने की जानकारी दी थी। इस पर मंत्री ने शनिवार को पुलिस के उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दी। इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने रातोंरात जांच शुरू कर कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी।

चार लोगों के खिलाफ मुकदमा: कैबिनेट मंत्री के सितारगंज प्रतिनिधि उमाशंकर द्विवेदी उर्फ दुबे की तहरीर के आधार पर रविवार को पुलिस ने हीरा सिंह निवासी कोटा फार्म, सितारगंज, सतनाम सिंह निवासी सिरसा फार्म बहेड़ी (उत्तर प्रदेश), हरभजन सिंह निवासी सितारगंज और किच्छा निवासी तांत्रिक मोहम्मद अजीज उर्फ गुड्डू के खिलाफ धारा 115, 120बी, 121ए, 34 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

..............................................................

कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा के प्रतिनिधि की ओर से इस मामले में तहरीर मिली है। यह बेहद संगीन मामला है। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले में कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

डॉ.मंजूनाथ टीसी, एसएसपी, यूएसनगर

.............................................................. 

इस घटना के संबंध में पुलिस के उच्चाधिकारियों को जानकारी दे दी गई है। कानून अपना काम करेगा। इस मामले में साजिश का जल्द पर्दाफाश करने की जरूरत है। साजिश रचने में कौन-कौन शामिल हैं,पुलिस जांच के बाद यह खुलासा करेगी। 

सौरभ बहुगुणा, कैबिनेट मंत्री

No comments: