Breaking News

Tuesday, 6 September 2022

गौचर मेले की प्रथम बैठक जिलाधिकारी चमोली हिमांशु खुराना की अध्यक्षता में हुई संपादित



गौचर मेले की प्रथम बैठक जिलाधिकारी चमोली हिमांशु खुराना की अध्यक्षता में हुई संपादित

सोनिया मिश्रा/केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़

गौचर।  ऐेतिहासिक राज्य स्तरीय औद्योगिक विकास एवं सांस्कृतिक गौचर मेले की तैयारियों को लेकर पहली बैठक जिलाधिकारी/मेला अध्यक्ष हिमांशु खुराना की अध्यक्षता में मंगलवार को राइका गौचर के सभागार में संपन्न हुई। जिसमें मेले को भव्य स्वरूप देने एवं मेले के सफल आयोजन हेतु जनप्रतिनिधियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, गणमान्य नागरिकों एवं स्थानीय लोगों से महत्वपूर्ण सुझाव लिए गए और मेले के आयोजन के संबध में विभिन्न विभागों के साथ आवश्यक व्यवस्थाओं पर विचार-विर्मश किया गया।

           

जिलाधिकारी/मेला अध्यक्ष हिमांशु खुराना ने कहा कि मेले को आर्कषक एवं भव्य ढंग से आयोजन कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों एवं स्थानीय लोगों के सभी सुझावों को मेला समिति में रखकर गम्भीरता से विचार किया जाएगा तथा सभी के सहयोग से मेले का भव्य एवं सफल बनाया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि मेले में हर प्रतिभा के कलाकारों को अवसर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि गौचर मेला एक राज्य स्तरीय मेला है। इसमें स्थानीय कलाकारों के साथ-साथ बाहरी जनपद एवं राज्यों के कलाकारों को भी अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर मिलेगा। उन्होंने मेले में उच्च स्तरीय सांस्कृतिक कार्यक्रम व खेलकूद आयोजित कराए जाएंगे। मेले के दौरान गौचर बाजार और क्षेत्र का विशेष सौन्दर्यीकरण, नगर में पार्किंग, परिवहन, साफ-सफाई एवं सुरक्षा के सभी इंतेजाम किए जाएंगे। मेला समितियों का पार्दर्शिता के साथ गठन करते हुए काम करने वालो लोगों को सम्मलित किया जाएगा। जिलाधिकारी ने एसडीएम/मेला अधिकारी को मेला समिति के अन्तर्गत शीघ्र सभी समितियों का गठन करने के निर्देश दिए। कहा कि समितियों के दायित्व निर्धारित करते हुए जिम्मेदारी तय की जाए। ताकि मेले को सुव्यवस्थित ढंग से संचालित किया जा सके।         

मेला अधिकारी/उप जिलाधिकारी संतोष कुमार पाण्डेय ने मेले की पृष्ठभूमि पर प्रकाश डालते हुए मेले के सफल आयोजन हेतु सभी लोगों से सहयोग की अपील की। कहा कि सभी लोगों के सुझावों पर गम्भीरता से विचार किया जाएगा। मेला अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि विगत वर्ष-2019 में आयोजित गौचर मेले से 68.02 लाख रुपये की आय तथा मेले के संचालन में 66.01 लाख रुपये का व्यय हुआ है। पिछले मेलों की अवशेष धनराशि मिलाकर मेला समिति के पास 13.45 लाख की धनराशि अवशेष है।          

बैठक में जनप्रतिनिधियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, गणमान्य नागरिकों एवं स्थानीय लोगों ने मेले के भव्य एवं सफल आयोजन के लिए अपने-अपने सुझाव रखे। मेले के उद्घाटन एवं समापन के लिए आमंत्रित किये जाने वाले मुख्य अतिथि, सांस्कृतिक कार्यक्रमों एवं मंच संचालन में स्थानीय लोगों को मौका देने, मेले में लगने वाले स्टॉल एवं दुकानों का शुल्क निर्धारण, उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित करने, खेलकूद प्रतियोगिताओं का स्तर आगे बढाने, नगर में पार्किंग व साफ-सफाई की समुचित व्यवस्था करने के संबध में महत्वपूर्ण सुझाव दिए। इसके साथ ही मेले में पहुॅचने वाले अतिथियों एवं सांस्कृतिक दलों के भोजन एवं आवास व्यवस्था, बैरिकेटिंग, शांति आदि व्यवस्थाओं पर भी विस्तार से चर्चा की गई।         

बैठक कर्णप्रयाग ब्लाक प्रमुख चन्द्रेश्वरी देवी, गौचर नगर पालिका अध्यक्ष अंजू बिष्ट, कर्णप्रयाग नगर पालिका अध्यक्ष दमयंती रतूडी, अपर जिलाधिकारी डा.अभिषेक त्रिपाठी, एसडीएम संतोष कुमार पांडेय, तहसीलदार  सुरेन्द्र देव सिंह, व्यपार संघ अध्यक्ष राकेश लिंगवाल, पूर्व राज्य मंत्री भूवन नौटियाल, मंडी समिति के पूर्व अध्यक्ष संदीप नेगी, मेला समिति के सदस्य, संबधित जिला स्तरीय अधिकारियों सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

No comments: