Breaking News

Thursday, 22 September 2022

हरित नवीन प्रौद्योगिकीय कार्यों के निरीक्षण को लेकर एक कार्याशाला का आयोजन



 हरित नवीन प्रौद्योगिकीय कार्यों के निरीक्षण को लेकर एक कार्याशाला का आयोजन

डैस्क: केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज

रूद्रप्रयाग। भारत की आजादी का अमृत महोत्सव के तहत रूद्रप्रयाग के प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत अन्तर्राज्यीय अभियंताओं की एक टीम ने रूद्रप्रयाग-पोखरी-बावई (किमी. 1.00) से फलासी (7.00 किमी.) मोटरमार्ग का निरीक्षण किया। इस मोटर मार्ग पर हरित नवीन प्रौद्योगिकीय तकनीकी का प्रयोग किया जा रहा है। 



भारत की आजादी का अमृत महोत्सव के तहत प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत अन्तर्राज्यीय अभियंताओं की एक टीम ने रूद्रप्रयाग-पोखरी-बावई (किमी. 1.00) से फलासी (7.00 किमी.) मोटरमार्ग का निरीक्षण कर यहां एक कार्यशाला का आयोजन किया गया।  दरअसल इस मोटर मार्ग पर भारत सरकार की नवीन तकनीकी हरित नवीन प्रौद्योगिकीय का इस्तेमाल किया जा रहा है। 



प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत उत्तराखण्ड में राष्ट्रीय ग्रामीण अवसंरचना विकास अभिकरण (ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार) के दिशानिर्देशन में अन्तर्राज्यीय अभियन्ताओं केा हरित/नवीन प्रौद्योगिकीय कार्यों का भ्रमण अभियान’ के तहत एक टीम ने आज रूद्रप्रयाग जनपद के चोपता फलासी मार्ग पर भ्रमण कर भारत की आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम नोडल अधिकारी डॉ0 एस डी तिवारी द्वारा संचालन किया गया। उक्त कार्यक्रम में पीआईयू रूद्रप्रयाग के समस्त अभियंताओं के साथ जियो सर्व के प्रतिभागी अपूर्व आनंद द्वारा समस्त प्रतिभागियों को एएनटी टैक्नॉलजी से संबंधित जानकारी के साथ मार्ग निर्माण से संबंधित गतिविधियों का प्रदर्शन किया गया। 

डॉ0 एस डी तिवारी के साथ पीआईयू रूद्रप्रयाग के अधिशासी अभियंता एवं समस्त अभियंताओं द्वारा एनआरआईडीए के निर्देशक डॉ प्रदीप अग्रवाल, मुख्य अभियंता इं रवि प्रताप सिंह एवं अधीक्षण अभियंता एस के बसलियाल के साथ समस्त प्रतिभागियों को पुष्प गुच्छ भेंट कर स्वागत किया गया। इस क्रम को जारी रखते हुए यूआरआरडीए उक्त हरित/नवीन प्रौद्योगिकीय एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन पैंसिफिक होटल राजपुर रोड़ देहरादून में किया जा रहा है। उक्त कार्यशाला से निकले फीडबैंक के आधार पर ग्रामीण सड़कों से संबंधित हरित/नवीन प्रौद्योगिकीय का राज्य के समस्त जनपदोयं के साथ देश के अन्य राज्य में भी व्यापक प्रचार प्रसार संभव हो।


No comments: