Breaking News

Sunday, 28 August 2022

पटवारियों के भरोसे गाँवों की सुरक्षा से नाराज जनप्रतिनिधि

 पटवारियों के भरोसे गाँवों की सुरक्षा से नाराज जनप्रतिनिधि


राजेश्वरी राणा ।पोखरी ।  ग्रामीण क्षेत्रों की कानून व्यवस्था  आज भी 116 साल पुरानी पटवारी  ब्यलस्था के भरोसे चल रही है ,जिसमें सुधार की नितांत आवश्यकता है , प्रधान संगठन के ब्लांक अध्यक्ष धीरेन्द्र राणा क्षेत्र पंचायत सदस्य भरत नेगी पूर्व प्रमुख नरेंद्र रावत सहित तमाम क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों ने सरकार से मांग की कि आज अपराध का स्वरुप बदल गया है ,साइबर अपराध से लेकर तमाम अपराध ऐसे अपराध है ,जिन पर नियंत्रण रखने के लिये मैन पावर की जरूरत होती है , लेकिन ग्रामीणों इलाकों की कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी  आज भी पटवारियों के पास है ,इस 116 वर्ष पुरानी पटवारी ब्यलस्था में बड़े सुधार की जरुरत है , पटवारियों के पास सुरक्षा की कोई व्यवस्था नहीं है ,स्टाफ की बड़ी कमी है ,एक पटवारी के पास तीन से अधिक क्षेत्र है ,इनको भू राजस्व से लेकर कानून व्यवस्था की दोहरी जिम्मेदारी  दी गयी है  वाहन की सुबिधाये इनके पास नहीं है , अगर दो क्षेत्रो में अपराध या कोई दूसरी घटनाये एक साथ होती है ,तो एक पटवारी इन दो क्षेत्रो में कैसे अपराधों पर नियंत्रण रखेगा ,इसलिये इस 116 पुरानी पटवारी ब्यलस्था में सुधार की नितांत आवश्यकता है , पटवारियों , लेखपालों  को सुबिधाये दी जाय ,बाहन की सुविधाये उपलब्ध करायी जाय ,अगर सुदूर ग्रामीण क्षेत्रो में अपराध होते हैं ,तो वे तुरन्त वहां पहुंच सके ,सुरक्षा कर्मचारी इनको उपलब्ध करवाये जाय ,स्टाफ की कमी दूर की जाय ,एक पटवारी के पास एक ही क्षेत्र रहे ,इस ब्यवस्था में सुधार की नितांत आवश्यकता है ,

No comments: