Breaking News



Friday, 29 July 2022

आखिर कब होगा इस क्षतिग्रस्त पुलिया का निर्माण, जब छात्रों के साथ होगा हादसा क्या तब खुलेगी नींद?

आखिर कब होगा इस क्षतिग्रस्त पुलिया का निर्माण, जब छात्रों के साथ होगा हादसा क्या तब खुलेगी नींद? 

पुलिया


-यशवंत राणा

पोखरी । 6  वर्ष बाद भी नहीं हो पाया है , राजकीय इंटर कालेज रडुवा और काण्ड ई चन्द्रशिला के बीच मगरी गदेरे पर क्षतिग्रस्त डांट पुलिया का पुनर्निर्माण छात्र छात्राये और ग्रामीण जान जोखिम में डालकर गदेरा आर पार करने को मजबूर ग्रामीणों ने   जिलाधिकारी और बद्रीनाथ के   विधायक  राजेन्द्र भण्डारी को ज्ञापन भेजकर की क्षतिग्र्रस्त डांट पुलिया के पुनर्निर्माण की मांग ,

रडुवा के प्रधान प्रदीप वर्तवाल जौरासी के प्रधान विनोद लाल काण्ड ई चन्द्रशिला के प्रधान नवीन राणा पूर्व प्रधान मनोरमा भण्डारी भगत भण्डारी सुबेदार ध्यान सिंह नेगी महिताब भण्डारी अबबल सिंह राणा बिमला किमोठी रमेश किमोठी संजय किमोठी गजेंद्र नेगी पी टी ए अध्यक्ष जगदीश नेगी सहित तमाम क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने ज्ञापन के माध्यम से कहा कि क्षेत्रीय ग्रामीणों की मांग पर 20 वर्ष पहले राजकीय इंटर कालेज रडुवा और काण्ड ई चन्द्रशिला के बीच मगरी गदेरे पर डांट पुलिया का निर्माण जिला योजना के तहत किया गया था , इस पुलिया से जहां  काण्ड ई  चम्द्रशिला और जौरासी के छात्र छात्राये  अध्ययन हेतू राजकीय इंटर कालेज रडुवा की  आवाजाही रोज  करते थे वहीं  रडुवा काण्ड ई चन्द्रशिला और जौरासी के ग्रामीण जरुरी वस्तुओं की खरीददारी करने   जहां बाजार जाते थे वहीं इंटर कालेज के अगल बगल अपने खेतों में काम करने के लिये आवाजाही करते थे , लेकिन 6 वर्ष पहले वर्षांत में गदेरे का पानी बढ़ने से पुलिया का एक पिल्लर बह गया और डांट पुलिया क्षतिग्र्रस्त होकर गदेरे में तिरक्षी लटक गयी तब से लेकर अब तक यातो  ग्रामीण और छात्र  छात्राये गदेरा तैरकर आवाजाही कर रहे हैं या गदेरे  में तिरछी खडी पड़ी हुई डांट पुलिया से आवाजाही कर रहे हैं ,

जाड़ों और गर्मियों में गदेरे का पानी कम रहने से ग्रामीण और छात्राये गदेरा तैरकर इधर उधर करते हैं , लेकिन हर वर्षांत में गदेरा का पानी बढ़ने से ग्रामीणों और विधार्थियों   की मुश्किलें बढ़ जाती है और ,वे गदेरे में ऊर्ध्वाधर खड़ी पड़ी हुई  डांट पुलिया से हर रोज  आवाजाही करने को मजबूर हैं ,डांट पुलिया पर आजकल काई जमने से फिसलन बढ़ गयी है , जिससे  घसियारी महिलाओं और छात्र छात्राओं के  आवाजाही करते समय पुल से सीधे नीचे गदेरे में गिरने की सम्भावना बनी हुई है ,कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है ,इस बाबत कहीं बार शासन प्रशासन  के उच्चाधिकारियों और क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को लिखित रूप से अवगत कराया गया है , 

यहां तक कि जिलाधिकारी के तहसील दिवस में भी समस्या को रखा गया है , लेकिन आज तक डांट पुलिया का पुनर्निर्माण नहीं हो पाया है , जिस कारण  हर रोज  ग्रामीण , घसियारी महिलाये और छात्र छात्राये जान जोखिम में डालकर आवाजाही करने को मजबूर हैं ,कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है ,लियाजा आप अपने स्तर से  अभिलम्ब  ग्रामीणों , महिलाओं और छात्र छात्राओं के हित में ,राजकीय इंटर कालेज रडुवा और काण्ड ई चन्द्रशिला के बीच मगरी गदेरे पर वर्षो से क्षतिग्र्रस्त पड़ी हुई डांट पुलिया का पुनर्निर्माण करवाया जाय । फोटो सलंग्न

No comments: