Breaking News



Thursday, 7 July 2022

रूद्रप्रयाग एक और एलटी का फर्जी डिग्री धारी शिक्षक एसआईटी के निशाने पर, शिक्षक निलंबित

 

रूद्रप्रयाग एक और एलटी का फर्जी डिग्री धारी शिक्षक एसआईटी के निशाने पर, शिक्षक निलंबित


डैस्क: केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज 

रूद्रप्रयाग। रूद्रप्रयाग में अब तक ढेड़ दर्जन से अधिक फर्जी शिक्षकोयं पर एसआईटी ने शिकंजा कस लिया है। जबकि अब भी कई शिक्षक एसआईटी की रडार पर हैं।  एसआईटी (Special Investigation Team) जांच में बीएड की डिग्री फर्जी पाई जाने की गाज रुद्रप्रयाग जिले में तैनात एक एलटी शिक्षक पर गिर गई। अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल ने इस एलटी शिक्षक को सेवा से निलंबित कर दिया है। निलंबित एलटी शिक्षक को बीईओ अगस्त्यमुनि दफ्तर से अटैच करते हुए बीईओ को पूरे मामले की विभागीय जांच सौंपी गई है। जांच अफसर को पंद्रह दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट देने के लिए कहा है। निलंबित शिक्षक को अरोप पत्र अलग से भेजे जाएंगे।


अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल महावीर सिंह बिष्ट ने बताया कि रुद्रप्रयाग जिले के राजकीय इंटर कॉलेज पठालीधार में तैनात सहायक अध्यापक हिन्दी के शिक्षक गुलब सिंह ने चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ से बीएड 2004 में किया था। इस मामले में एसआईटी ने सहायक सहायक अध्यापक की बीएड की डिग्री जांच के लिए मेरठ विश्व विद्यालय भेजी। विश्वविद्यालय मेरठ के सचिव ने अपनी जांच रिपोर्ट में सबंधित अनुक्रमांक और इंनरोलमेंट नंबर होने की पुष्टि नहीं की। एसआईटी जांच में प्रथमदृष्टया बीएड की अंक तालिका और प्रमाण पत्रों पर संदेह होने और इनके फर्जी या मिथ्या होने पर सहायक अध्यापक को निलंबित कर दिया गया है। 

 निलंबित शिक्षक गुलाब सिंह को खंड शिक्षाधिकारी दफ्तर अगस्त्यमुनि से अटैच कर दिया गया है। गुलाब सिंह ने इसी डिग्री से नियुक्त पाई है। आरोपी शिक्षक के विरुद्ध थाना अगस्त्यमुनि में एफआईआर भी दर्ज की गई है। इस पूरे मामले की विभागीय जांच बीईओ अगस्त्यमुनि को सौंपते हुए पंद्रह दिन के भीतर जांच रिपोर्ट देने को कहा गया है। यदि विभागीय जांच में भी उक्त आरोप सही पाए जाते है तो आरोपी शिक्षक की सेवा समाप्त की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।


No comments: