Breaking News



Thursday, 7 July 2022

पर्यावरण के प्रति अलख जगाने वाले पर्यावरण मित्र बलवंत सिंह बिष्ट के नेतृत्व कुनीपार्थी गांव में 1000 पौधों का किया रोपण

 पर्यावरण के प्रति अलख जगाने वाले पर्यावरण मित्र बलवंत सिंह बिष्ट के नेतृत्व कुनीपार्थी गांव में 1000 पौधों का किया रोपण 


केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़

थराली /नवीन चंदोला

 कुनीपार्था राजस्व ग्राम कुनी में पर्यावरण मित्र बलवंत सिंह के नेतृत्व में (एक हजार )पौधों का रोपण किया जिसमें बोटलबुश, मोरपंखी, सुरई,जकरैडा बेलपत्र,पयया, पदम ,जामुन , अमरूद ,माल्टा ,नींबू ,दाड़िम कचनार बाँज फयियाट भीमल बाँस रीठा आदि पौधों का रोपण किया कार्यक्रम के मुख्य अतिथि खंड विकास अधिकारी श्री श्रीपति लाल प्रधान श्रीमती प्रमिला देवी सरपंच लक्ष्मी देवी उपप्रधान मोहन सिंह ग्रा०वि सुदर्शन नेगी क्षे ०यु० क० अ०श्री सुनील कुमार महिला मंगल दल अध्यक्षा हरमा देवी युवक मंगल दल अध्यक्ष नरेंद्र सिंह एवं तमाम ग्राम वासियों क्षेत्र जनप्रतिनिधियों समाजसेवी आदि लोगों ने सम्मिलित होकर पौधरोपण किया ।

पर्यावरण मित्र बलवंत सिंह बिष्ट ने कहा कि प्रकृति को संजोए रखने के लिए हमारे जीवन में पेड़ पौधों का हो ना उतना ही अनिवार्य है जितना हमारे लिए भोजन अनिवार्य है जिससे जलवायु परिवर्तन को रोकने एवं स्वच्छ वातावरण के लिए अधिक से अधिक पौधों का रोपण करना चाहिए तभी पर्यावरणीय संतुलन बनाया जा सकता है पेड़-पौधे जीव- जगत के लिए अमूल्य हैं और हमें निशुल्क उपहार में मानव जीवन मिला है हमें इस सार्थक मानव जीवन की कल्पना के लिए अधिक से अधिक पौधों का रोपण करना चाहिए जिसे प्रकार आज मेरे द्वारा अपने पितरों के नाम लक्ष्मी माधो पौधालय तैयार कर हजारों लाखों पौधों को उगाया गया है और अनेकों क्षेत्रों में रोपण और निशुल्क और वितरण करते आ रहा हूँ पेड़ पौधों से हमें ईंधन इमारती लकड़ी चारा पत्ती शुद्ध हवा शुद्ध पानी भूस्खलन कटाव रोकने में सहायक है साथ ही मनुष्य ने अपने कथित विकास के लिए दूसरों के घरों को उजाडा है इनमें पशु पक्षी विविध पौधे और दूसरे जीवी की प्रजातिया़ को भी असर पड़ा है जिससे जैव विविधता पर भी लगातार प्रतिकूल असर पड़ता रहा है इस वर्ष ग्रीष्मकाल मैं जो राष्ट्रीय वन संपदा की क्षति हुई है उस की अपेक्ष में हमें वृक्षारोपण करना चाहिए जिससे भूस्खलन जल-स्रोतो सुखना आपदाओं का आना वेमौसमी का बारिश का होना जाड़ो के दिनों में ग्लेशियरों का फटना लगातार बढ़ता जा रहा है मानव जीवन के द्वारा जनचेतना और जागरूकता के माध्यम से पेड़ पौधों का रोपण नहीं किया गया तो मनुष्य जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है पेड़ पौधे धरती का श्रृगार करने के साथ-साथ मनुष्य को प्राणवायु देने के काम भी करते है बेजुबान पशु पक्षियों के लिए पेड़ ही सबसे बड़ा आश्रय देते हैं पर्यावरण दूषित से अनेकों बीमारियां जन्म लेती हैं जिससे बरसात के दिनो में दूषित पानी भी हमारे घरों तक आता है 

पौधरोपण से पहले सभी उपस्थित मातृशक्ति सम्मानित ग्राम वासियों जनप्रतिनिधियों ने सामूहिक देवी चौक में पर्यावरण संरक्षण की शपथ ली ।जिसमें श्री नरेंद्र सिंह,मनजीत सिंह , दलबीर सिंह ,प्रताप सिंह, जयवीर सिंह, मनोहर सिंह ,पुष्कर सिंह, गोपाल सिंह, नारायण सिंह, त्रिलोक सिंह, अनीता देवी ,नरौली देवी ,पुष्पा देवी, लक्ष्मी देवी ,दीपा देवी ,जीवनती देवी ,आशा देवी ,गीता देवी ,महेश्वरी देवी ,दमयंती देवी ,रेखा देवी ,ज्ञानेश्वरी देवी आदि महिलाएं उपस्थित रही

No comments: