Breaking News

Sunday, 10 April 2022

सरकार और जनप्रतिनिधियों की अनदेखी का शिकार कुंजौ मैकोट गाँव, ग्रामीण परेशान

 सरकार और जनप्रतिनिधियों की अनदेखी का शिकार कुंजौ मैकोट गाँव, ग्रामीण परेशान

-लोकेन्द्र रावत/केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़

चमोली। सीमांत जनपद चमोली के ग्रामीण अंचलों में मूलभूत सुविधाओं का भारी अभाव बना हुआ है, चमोली के निकटवर्ती कुजौ मैकोट की भी कुछ ऐसी ही स्थिति बनी हुई है। यहां पेयजल पैदल रास्ते और स्ट्रीट लाइटे के ना होने से ग्रामीण परेशान हैं। 

ग्रामीण ने कहा कि गाँव के पेयजल स्रोत सूखने से पानी की भारी किल्लत बनी हुई है। ग्रामीणों को नीलू दूर प्राकृतिक जल स्रोतों से पानी ढोने के लिए विवश होना पड़ रहा है, पेयजल संकट से निजात दिलाने के लिए कहीं बाहर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों और विभागों मैं शिकायत की जा चुकी है लेकिन ग्रामीणों की इस विकट समस्या के प्रति कोई संवेदनशील नहीं है। 

वहीं उन्होंने कहा गांव में पैदल रास्ते टूटे हैं और स्ट्रीट लाइटों के ना होने से रात को पूरे क्षेत्र में अंधेरा छाया रहता है जिस पर जंगली जानवरों का भी भय बना रहता है। ग्रामीणों ने कहा अगर उनकी समस्या का निदान नहीं होता है तो वह निकट भविष्य में शासन प्रशासन के खिलाफ आंदोलन करेंगे। इस अवसर पर राजेश्वरी, संगीता देवी, मुन्नी देवी, संगीता देवी, सुनीता देवी, कविता देवी, आशा देवी, प्रीति देवी, दीपा, ममता, कुषमा, विनीता, सुशीला आदि लोगों ने शिकायत की।

No comments: