Breaking News

Friday, 8 April 2022

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के सफल आयोजन को लेकर जिलाधिकारी ने दिये निर्देश

 राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के सफल आयोजन को लेकर जिलाधिकारी ने दिये निर्देश



रूद्रप्रयाग। 18 अप्रैल को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के सफल आयोजन हेतु शून्य से 19 वर्ष आयु के बच्चों को अलवेन्डाजोल गोली खिलाने के उद्देश्य से जिलाधिकारी मनुज गोयल की अध्यक्षता में संबंधित अधिकारियों के साथ जिला कार्यालय सभागार में बैठक आयोजित कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कृमि के कारण छोटे बच्चों से लेकर 19 वर्ष तक के किशोर पेट की गड़बड़ी से परेशान रहते हैं। वे कृमि जनित रोगों से मुक्त रहें इसलिए आवश्यक दवा लाभकारी है। इसे अनिवार्य रूप से लेना है।

                 उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए हैं कि अलवेन्डाजोल की दवा सभी शासकीय, गैर शासकीय विद्यालयों, आंगनवाड़ी केंद्रों व बाल विकास के ब्लाॅक कार्यालयों में 15 अप्रैल तक अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता एवं लापरवाही न बरती जाए तथा दवा वितरण हेतु आवश्यक प्लान करने के भी निर्देश दिए गए। उन्होंने कार्यक्रम की सफलता के लिए सभी स्कूलों में नोडल अधिकारी नामित करने के भी निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने मुख्य शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि बच्चों के माध्यम से इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए ताकि राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के अवसर पर सभी बच्चे विद्यालयों में उपस्थित हो सकें। यदि किसी कारणवश कोई बच्चा इस दिवस को विद्यालय में उपस्थित नहीं हो पाते हैं तो उन्हें अगले दिन दवा खिलाई जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि सभी अभिभावकों को इसकी भी जानकारी उपलब्ध कराई जाए कि कोई भी बच्चा कृमि मुक्ति दिवस के अवसर पर खाली पेट स्कूल न जाएं तथा बच्चों को कुछ खाने के पश्चात दवा खिलाई जाए।

         बैठक के दौरान अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 विमल गुसाईं ने बताया कि राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के इस राउंड में 18 अप्रैल को 01-19 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों को स्कूल व आंगनबाड़ी केंद्रों में कृमि नाशक दवा एल्बेंडाजौल खिलाई जाएगी, 18 को किसी कारण दवा खाने से छूट गए बच्चों को 19 अप्रैल को माॅप अप राउंड में दवा खिलाई जाएगी तथा 20 से 23 अप्रैल तक आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां डोर-टू-डोर भ्रमण कर लक्षित आयुवर्ग के बच्चों को कृमि नाशक दवा खिलाएंगी। बताया कि 01 से 02 वर्ष के बच्चों को चूरा कर आधा गोली तथा 2 से 19 वर्ष तक के बच्चों को 01 पूरी गोली खिलाई जानी है। उन्होंने बताया कि जनपद में 965 स्कूलों व 691 आंगनबाड़ी केंद्रों में 65693 बच्चों व किशोर-किशोरियों को दवा खिलाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके अतिरिक्त तकनीकि शिक्षण संस्थानों में अंडर 19 आयु वर्ग के छात्र-छात्राओं को भी एल्बेंडाजौल दवा खिलाई जाएगी।

बैठक में मुख्य शिक्षा अधिकारी यशवंत चौधरी, जिला कार्यक्रम अधिकारी शैली प्रजापति, बीईओ दिवाकर धूलिया, शिवलाल आर्य, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डा0 यास्मिन, डा0 भवानी, डा0 रविंद्र सिंह, डा0 जीपी सती, डा0 हेमा असवाल, डा0विकास सिंह, सहायक अभियंता जल संस्थान नरेंद्र जगवाण आदि मौजूद रहे।

No comments: