Char dham yatra
 

Breaking News


Monday, 4 April 2022

आगामी चारधाम यात्रा एंव आपदा के दृष्टिगत जनपद पुलिस बल को एस0डी0आर0एफ0 एंव स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम द्वारा आपदा/राहत बचाव कार्यों एंव प्राथमिक उपचार का दिया गया प्रशिक्षण

 आगामी चारधाम यात्रा एंव आपदा के दृष्टिगत जनपद पुलिस बल को एस0डी0आर0एफ0 एंव स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम द्वारा आपदा/राहत बचाव कार्यों एंव प्राथमिक उपचार का दिया गया प्रशिक्षण


 केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़

चमोली पुलिस किसी भी दुर्घटना आपदा से निपटने के लिए तथा चारधाम यात्रा-2022 को सफल एंव सुगम बनाये जाने हेतु निरंतर प्रयासरत है। इसी क्रम में *पुलिस अधीक्षक चमोली श्वेता चौबे के निर्देशन में आगामी चारधाम यात्रा-2022 एंव प्राकृतिक आपदाओं/दुर्घटनाओं व अन्य रुप में घायल व्यक्तियों को अस्पताल भेजे जाने से पूर्व आकस्मिक परिस्थितियों के दौरान घायलों के जीवन को बचाने के उद्देश्य से जनपद पुलिस को एस0डी0आर0एफ0 व स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। इसी क्रम में आज दिनांक 4/4/2022 को ब्लॉक सभागार कर्णप्रयाग में 

कोतवाली कर्णप्रयाग,थाना गैरसैंण,थाना पोखरी,थाना थराली के पुलिस कर्मियों द्वारा प्राथमिक उपचार/आपदा प्रशिक्षण शिविर में प्रतिभाग कर प्राथमिक उपचार व आपदा राहत का प्रशिक्षण लिया गया। आपदा प्रशिक्षण कराए जाने का उद्देश्य आपदा के दौरान कम से कम समय में जान माल की क्षति का न्यूनीकरण करना है। एस0डी0आर0एफ कर्णप्रयाग की टीम द्वारा पुलिस कर्मियों को आपदा से बचाव एंव प्राथमिक उपचार संबंधी कार्यों का प्रशिक्षण देकर आपदा उपकरणों के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई।

   आपदा प्रबंधन का डेमोंसट्रेशन कर आपदा संबंधी राहत एंव बचाव कार्यों व घायल व्यक्तियों को प्राथमिक उपचार दिये जाने का प्रशिक्षण प्रदान किया गया प्रशिक्षण के दौरान जवानो ने प्राथमिक उपचार से संबंधित सी0पी0आर,एम0एफ0आर आदि का अभ्यास किया गया और उपचार के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त की गई। जिससे आपदा के दौरान राहत बचाव कार्य के साथ साथ जवान आपदा में घायल हुए व्यक्तियों को उचित प्राथमिक उपचार भी दे सकें। स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्तियों,एक से अधिक घायलों की अवस्था में सर्वप्रथम किस घायल को अस्पताल पहुंचाया जाए,डूब रहे व्यक्तियों को किस प्रकार से बचाया जाए आदि के संबंध में बताया गया। 

पुलिस अधीक्षक महोदया ने बताया कि हमारा चमोली जनपद प्राकृतिक आपदाओं की दृष्टि से बेहद संवेदनशील है। इसलिए यहाँ आपदा का प्रशिक्षण देना भी जरुरी हो जाता है। इस प्रशिक्षण को मात्र एक प्रशिक्षण के तौर पर न लिया जाए,अपितु इसे मानव क्षति न्यूनीकरण एंव जनसमुदाय में दक्ष सहयोगी भाव का उद्भव करने का प्रमुख स्त्रोत माना जाए। इस प्रशिक्षण से प्राप्त जानकारी को समय आने पर छोटी बड़ी घटना में आमजन भी न्यूनतम जोखिम व अधिकतम सफलता से कार्य कर सके। प्रशिक्षित पुलिस कर्मी आपदा के दौरान राहत व बचाव कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निर्वहन करेंगे।

प्रशिक्षण शिविर में स्वास्थ्य विभाग व एस0डी0आर0एफ0 के साथ-साथ कोतवाली कर्णप्रयाग,थाना गैरसैंण,थाना पोखरी,थाना थराली के पुलिसकर्मी भी मौजूद रहे ।

No comments: