Char dham yatra
 

Breaking News


Tuesday, 29 March 2022

थराली में ग्राम प्रहरियों ने ट्रेड यूनियन के आह्वान पर 20 सूत्रीय मांगों को लेकर निकाला जुलूस

 थराली में ग्राम प्रहरियों ने ट्रेड यूनियन के आह्वान पर 20 सूत्रीय मांगों को लेकर निकाला जुलूस

केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़

थराली

20 सूत्रीय मांगों को लेकर केंद्रीय ट्रेड यूनियन के आह्वान पर जारी 28 एवं 29 मार्च के दो दिवसीय हड़ताल के तहत सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन सीटू के नेतृत्व में तहसील मुख्यालय थराली में आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों, भोजन माताओं ग्राम प्रहरियों ने जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया। इस दौरान आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने वर्तमान केंद्र सरकार को मजदूर विरोधी बताते हुए आंदोलन को और अधिक धार देने की आवश्यकता पर बल दिया।

मंगलवार को पिंडर घाटी के तीनों ब्लाकों के आंगनबाड़ी, भोजन माताएं, ग्राम प्रहरी आदि संगठनों के नेता एवं कार्यकर्ता यहां थराली,देवाल,नारायड़बगड़, ग्वालदम तिराहे पर जमा हुए। इसके बाद जोरदार नारेबाजी के साथ एक जुलूस निकाला गया, जोकि नगर क्षेत्र के विभिन्न हिस्सों से गुजरते हुए उपजिलाधिकारी कार्यालय तक पहुंचा। यहां पर जोरदार नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया गया इसके बाद यही पर एक सभा का आयोजन किया गया।


इस सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार जनहित की बजाय सिर्फ औद्योगिक घरानों को ही लाभ पहुंचाने में जुटी हुई है।जिस कारण पूरे देश में गरीब और अधिक गरीब और अमीर और अधिक अमीर होता जा रहा हैं। जिससे देश में असंतुलन बढ़ता ही जा रहा हैं। इस मौके पर राष्ट्रपति को संबोधित एक 20 सूत्रीय मांग पत्र उपजिलाधिकारी थराली के माध्यम से भेजा गया। जिसमे श्रम कानून, निजीकरण पर रोक, भोजन माताओं को मानदेय वृद्धि समेत ग्राम प्रहरियों और आंगनबाड़ी कार्यकर्तियो को राज्य कर्मचारी घोषित करते हुए 24 हजार वेतन देने की मांग की गई हैं।


प्रदर्शन के दौरान भोजन माताओं ने भी पिछले 3 माह से मानदेय न मिलने पर नाराजगी जाहिर करते हुए मानदेय भुगतान की मांग की गई हैं। इस मौके पर सीटू के जिलाध्यक्ष मदन मिश्रा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ती संघ की ब्लाक अध्यक्ष हंसी थपलियाल, आंगनबाड़ी संघ की जिला संयोजक मुन्नी देवी, भोजन माता संघ की नीमा देवी, अश्वनी रावत, नीमा देवी, अंजू पंत, दीपक पुरोहित, ममता, भागा जोशी, प्रेमा रावत, दीपा देवराड़ी आदि ने विचार व्यक्त किए।

No comments: