Breaking News



Thursday, 17 February 2022

सोशल मीडिया पर अनुसूचित वर्ग को पानी न देने की फैलाई गई भ्रामक खबर, वीडियो वायरल करने वाले शख्स ने मांगी माफी

 सोशल मीडिया पर अनुसूचित वर्ग को पानी न देने की फैलाई गई भ्रामक खबर, वीडियो वायरल करने वाले शख्स ने मांगी माफी



रुद्रप्रयाग जनपद के डांगी गाँव में विधानसभा चुनाव के मतदान दिवस 14 फरवरी को एक व्यक्ति द्वारा एक भ्रामक वीडियो बनाया गया जिसमें यह दर्शाने की कोशिश की गई डांगी गांव में सामान्य जाति वर्ग के लोग  अनुसूचित वर्ग के लोगों को अपने धारे पर पानी भरने नहीं देते हैं। यह वीडियो जैसे ही सोशल मीडिया पर  अपलोड किया गया तो यह वीडियो तेजी से वायरल हो गया इस पर तमाम तरह की प्रतिक्रियाएं आने लगी। 



पूरे मामले में रुद्रप्रयाग पुलिस द्वारा पड़ताल की गई तो यह वीडियो पूरी तरह से भ्रामक पाया गया। गांव में ऐसा कुछ भी नहीं होता है सभी लोग मिल जुल कर सामाजिक सौहार्द के साथ रहते हैं। किसी के भी साथ किसी भी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जाता है। पी के रूदिया नाम के जिस व्यक्ति ने यह वीडियो बनाया और वायरल किया उसने पुलिस को लिखित माफ़ीनामा दिया है

  माफीनामे उसने लिखा कि वह गाँव में बाहर आया था और जानकारी नहीं थी कि क्या हो रहा है। खुद के मन में आये विचार को ही आधार बनाकर वीडियो वायरल किया गया। उधर अनुसूचित जाति के लोगों ने कहा कि उनके साथ किसी भी तरह का भेदभाव नहीं किया जाता है जबकि ग्राम प्रधान ने भी लिखित में पुलिस को दिया है कि गांव में किसी भी तरह से जातियों को लेकर भाग भेदभाव नहीं किया जाता है गांव का माहौल सौहार्दपूर्ण है।

No comments: