Breaking News



Saturday, 22 January 2022

देखिये जब आटा खाने गांव की चक्की पर पहुँचा भालू का बच्चा, पहले दहशत फिर कौतुहल

 


देखिये  जब आटा खाने गांव की चक्की पर पहुँचा भालू का बच्चा, पहले दहशत फिर कौतुहल


संदीप बर्त्वाल/केदारखण्ड एक्सप्रेस

पोखरी। विकासखण्ड पोखरी  के चौंडी गांव में भालू का आठ माह का बच्चा बृहस्पतिवार रात को गांव की आटे की चक्की पर आटा खाने पहुंच गया और वहीं फंस गया। जिसके बाद  सूचना मिलने पर केदारनाथ वन्य जीव प्रभाग के कर्मचारियों ने भालू के बच्चे का रेस्क्यू कर उसे जंगल में छोड़ दिया। 

दरअसल, रात को भालू के साथ चल रहा उसका आठ माह का बच्चा आटा खाने के बहाने गांव के  पूर्व प्रधान महेंद्र सिंह बुटोला की चक्की कक्ष में घुस गया। जब उन्हें भालू के घुसने का आभास हुआ तो उन्होंने बाहर से दरवाजा बंद कर दिया और इसकी सूचना वन विभाग को दी। वन कर्मियों ने भालू के बच्चे को जाल में फंसाया और उसे जंगल में छोड़ दिया। 



वही क्षेत्र में भालू की पिछले लंबे समय से दहशत बनी हुई हैं ,वही ग्रामीण हरीश बुटोला का कहना है कि वन विभाग को जंगली जानवरों से लोगो को निजात दिलाना चाहिए जिससे ग्रामीणो में दहशत पैदा न हो,ऐसे में महिलाओं व छोटे बच्चो को रोजमर्रा की जिंदगी में जोखिम उठाना पड़ रहा हैं ।इनके साथ जंगली जानवरों के द्वारा अप्रिय घटना होती हैं तो विभाग को इसकी जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी।

No comments: