Breaking News



Monday, 6 December 2021

बाहरी शहरों में भटकने से अच्छा अपने क्षेत्र में तलाशे रोजगार: कमलेश उनियाल



बाहरी शहरों में भटकने से अच्छा अपने क्षेत्र में तलाशे रोजगार: कमलेश उनियाल

भाजपा प्रदेश सह मीडिया ने किया मुख्यालय के गुलाबराय मैदान में कैरियर काउंसलिंग का आयोजन

 कार्यक्रम में कृषि, उद्यान, पशुपालन, मत्स्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वालो को किया गया सम्मानित

रुद्रप्रयाग। पहाड़ी जिलों में रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। रोजगार को लेकर युवाओं को बाहरी शहरों में भटकने की आवश्यकता नहीं है। यहीं पर उन्हें रोजगार मिल सकता है। इसके लिए थोड़ा मेहनत की जरूरत है। मेहनत के जरिये युवा सफलता हासिल कर सकते हैं।

जिले में रोजगार के संसाधनों को तलाशते हुए भाजपा प्रदेश सह मीडिया प्रभारी कमलेश उनियाल की ओर से मुख्यालय के गुलाबराय मैदान में कैरियर काउंसलिंग का आयोजन किया गया। इसमें दूर-दराज क्षेत्रों से युवाओं ने भाग लिया। जिन्हें रोजगार को लेकर विभिन्न विभागों में संचालित योजनाओं की जानकारी देने के साथ ही सुझाव दिये गये। इस अवसर पर भाजपा नेता उनियाल ने कैरियर काउंसलिंग में पहुंचे युवाओं से कहा कि रोजगार को लेकर भटकने की कोई आवश्कता है। सर्वप्रथम युवाओं को रोजगार अपने क्षेत्र से तलाश करना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि पहाड़ी क्षेत्रों में सरकार की कृषि, पशुपालन, मत्स्य सहित अन्य लाभकारी योजनाएं संचालित हो रही है। इन योजनाओं की जानकारी लेकर युवाओं को स्वरोजगार की ओर कदम बढ़ाना चाहिए। कोरोना महामारी के कारण सैकड़ों की संख्या में बाहरी शहरी इलाकों में रोजगार करने वाले युवा अपने गांवों की ओर लौटे हैं। ऐसे में इन युवाओं को सरकार की लाभकारी योजनाओं की जानकारी प्राप्त करनी चाहिए। इससे उन्हें घर में ही रोजगार मिल जायेगा। उन्होंने कहा कि जानकारी के अभाव में कई बार युवा शहरी क्षेत्रों की ओर पलायन करना मुनासिब समझते हैं। उन्हें पहले जिला मुख्यालय में विभिन्न विभागों में जाकर स्वरोजगार परक योजनाओं की जानकारी लेनी चाहिए। तीलू रौंतेली पुरस्कार से सम्मानित मशरूम गर्ल बबीता रावत ने कहा कि कृषि के क्षेत्र में युवा स्वरोजगार कर सकते हैं। स्वयं उन्होंने कृषि को अपनाया है और वे मशरूम सहित अन्य सब्जियों का उत्पादन कर रही हैं। इसके साथ ही वे दुग्ध उत्पादन भी कर रही हैं। उन्होंने कहा कि पहले कठिनाईयां बहुत आती हंै। धीरे-धीरे सबकुछ सही हो जाता है। बस युवाओं को हिम्मत नहीं हारनी हैं। कठिनाईयों को पार करके आगे बढ़ना है। 

पशुपालन अधिकारी डाॅ राजीव गोयल ने कहा कि पशुपालन विभाग में अनेक ऐसी स्कीमें हैं, जिनका लाभ युवा उठा सकतें हैं। आज के समय में दुग्ध उत्पादन से काफी अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है। पशुपालन विभाग की ओर से युवाओं की हरसंभव मदद की जायेगी। युवाओं को किसी भी काम को छोटा नहीं समझना चाहिए। कठिन परिश्रम से ही सफलता हासिल की जा सकती है। जिला सेवा योजन अधिकारी कपिल पाण्डेय ने कहा कि विभाग की ओर से समय-समय पर रोजगारपरक शिविर लगाये जाते हैं। इन शिविरों में युवाओं का साक्षात्कार लेकर उन्हें रोजगार दिया जाता है। 

कार्यक्रम में कृषि, पशुपालन, मत्स्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले दिनेश सिंह चैधरी, लीलानंद थपलियाल, प्रदीप कुमार, संदीप प्रसाद, मुकेश प्रसाद सेमवाल, भगवान सिंह, शुभम काला, विशु भंडारी, महेन्द्र सिंह रावत को स्मृति चिन्ह व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस दौरान पशुपालन, सेवा योजना, कृषि, मत्स्य, आईटी सहित अन्य विभागों की ओर से स्टाॅल लगाये गये थे, जिनकी ओर से युवाओं को विभिन्न जानकारियां दी गई। इस मौके पर जनपद मत्स्य अधिकारी संजय सिंह बुटोला, किशन सिंह रावत सहित सैकड़ों की संख्या में युवा मौजूद थे।


No comments: