Breaking News


 

Friday, 12 November 2021

घोलतीर-कोठगी पुल के लिए अनदीप नेगी की भूख हड़ताल शुरू

कोठगी पुल के लिए भूखहड़ताल


घोलतीर-कोठगी पुल के लिए अनदीप नेगी की भूख हड़ताल शुरू


पुल निर्माण की कार्रवाई होने तक आंदोलन रहेगा जारी, समर्थन देने बड़ी संख्या में पहुँचे लोग 


रुद्रप्रयाग। घोलतीर-कोठगी मोटरपुल निर्माण कार्य शुरू कराने की मांग को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता अनदीप नेगी का कोठगी में आमरण-अनशन शुरू हो गया है। उन्होंने स्पष्ट कहा कि जब तक पुल निर्माण नहीं हो जाता उनकी भूख हड़ताल जारी रहेगी। 

आमरण-अनशन पर बैठे सामाजिक कार्यकर्ता अनदीप नेगी ने बताया कि तल्लानागपुर और दशज्यूला पट्टी के करीब दो दर्जन गांवाें को बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ने के लिए वर्ष 2005-06 में स्वीकृत घोलतीर-कोठगी मोटर पुल का निर्माण अभी तक शुरू न होना दुर्भाग्यपूर्ण है। हर चुनाव में नेता आते हैं और पुल निर्माण का वादा करके चले जाते हैं, लेकिन चुनाव जीतने के बाद कोई भी इस पर ध्यान नहीं देता। पुल निर्माण के लिये स्थानीय विधायक ने भी जनता से वादा किया था, लेकिन पिछले साढ़े चार वर्षों में पुल की नींव तक नहीं रखी गई। 

उन्होंने कहा कि पिछले लंबे समय से मोटरपुल निर्माण के लिए जनता संघर्ष कर रही है। लेकिन सरकार के कानों में जू तक नहीं रेंग रहा। थक-हारकर आमरण-अनशन का निर्णय लिया है। जब तक पुल निर्माण को लेकर कोई सकारात्मक कार्रवाई नहीं होती, उनका अनशन जारी रहेगा। 

समर्थन देने पहुँचे ज्येष्ठ प्रमुख सुभाष नेगी, ग्राम प्रधान कोठगी हरेंद्र सिंह, ग्राम प्रधान छिनका देवेंद्र नेगी, प्रधान क्वीली पुष्पा देवी का कहना है कि मोटर पुल न होने से ग्रामीणाें को करीब बीस किमी की अतिरिक्त दूरी तय कर जिला मुख्यालय पहुंचना पड़ रहा है।  मोटरपुल बनने से तल्लानागपुर और दशज्युला क्षेत्र की बीस हजार की आबादी लाभांवित होगी। जब भी कोई बीमार हो जाता है तो उसे समय पर अस्पताल पहुँचाने में परेशानी होती है। पुल यहां के लोगों के लिए लाइफलाइन है।

वहीँ उत्तराखंड क्रांति दल के युवा नेता मोहित डिमरी, उक्रांद के वरिष्ठ नेता भगत चौहान, पूर्व युवा जिलाध्यक्ष दिनेश बर्त्वाल, आईटी महामंत्री सुमित कठैत ने आंदोलन का समर्थन करते हुए धरना दिया। 

इस मौके पर भगवती भिलंगवाल, दिनेश खाली, संदीप सिंह, अनूप रावत, मयंक रावत, अरुण सिंह, हयात चौहान, जयेंद्र सिंह, राकेश कंडारी, अमित भंडारी, कुंवर सिंह जग्गी सहित कई लोगों ने आंदोलन को समर्थन दिया।

No comments: