Breaking News


 

Sunday, 14 November 2021

रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ राइका भणज में मनाया बाल दिवस

रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ राइका भणज में मनाया बाल दिवस



डैस्क :केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़

रूद्रप्रयाग। 14 नवंबर को संपूर्ण देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्मदिन बाल दिवस के रूप में मनाते हैं। जवाहरलाल नेहरू को बच्चों से अत्यधिक प्रेम था। बच्चे उन्हें चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे। बच्चों के प्रति उनकी चिंता बहुत अधिक थी। वह बच्‍चों के भविष्‍य को लेकर हमेशा विचार-मंथन करते रहते थे। वे बच्‍चों को देश का भविष्य मानते थे। 1947 में जब देश आजाद हुआ तब ही उन्होंने मान लिया था विज्ञान ही सबकुछ है। चाचा नेहरू बच्चों को राष्ट्र निर्माता कहते थे। उनके विचार इतने स्पष्ट थे कि वे 1940 के दशक में पूंजीवादी, विज्ञान, धर्म तो आगे बढ़ने की ललक के बारे में विचार बच्‍चों को हमेशा प्रेरित ही करेंगे। आइए जानते हैं किस तरह चाचा नेहरू के विचार आने वाली युवा पीढ़ी को देशहित में आगे बढ़ाएगी । 


इस अवसर पर  रूद्रप्रयाग जनपद के रा0इ0कॉलेज भणज में छात्र छात्राओं द्वारा रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सामाजिक कार्यकर्ता प्रकाश पुरोहित व विशिष्ट अतिथि कुंवर सिंह नेगी के साथ ही अभिभावक शिक्षक संघ के अध्यक्ष राजपाल लाल व एस एम सी भी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन मनीष गागर्य, कक्षा 12 के छात्र सौरभ व छात्रा लक्ष्मी ने किया। 


कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए प्रधानाचार्य महिपाल सिंह, व अध्यापक रवींद्रनाथ सिंह, ऋषि पाल सिंह, प्रमोद मिश्रा, मीना खाली, मीना बिष्ट, संजय सिंह, मनोज भट्ट, प्रदीप नेगी, गिरी कठैत, नीता चौहान, राकेश चन्द्र का योगदान रहा। कार्यक्रम का आयोजन बीना किमोठी के विशेष नेतृत्व में किया गया।

No comments: