Breaking News

Thursday, 23 September 2021

भाजपा जिलाध्यक्ष ने सीएम से की मुलाकात : यात्रा में शिथिलता लाने मांग


भाजपा जिलाध्यक्ष ने सीएम से की मुलाकात : यात्रा में शिथिलता लाने मांग

डैस्क केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़

रूद्रप्रयाग।  कोविड महामारी संक्रमण के कारण दो वर्षों से ठप्प पडी यात्रा का आगाज शुरू होने से स्थानीय व्यापारियों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी थी, लेकिन धामों में सीमित तीर्थ यात्रियों की संख्या के कारण व्यवसायियों में मायूसी छाई है, यात्रा नियमों में शिथिलता लाने के लिए भाजपा के जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात की जिस पर मुख्यमंत्री ने जल्दी ही नियमों में बदलाव कर व्यापारियों को राहत देने का भरोसा जताया है। 


रूद्रप्रयाग भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल ने चारधाम यात्रा में तीर्थयात्रियों की संख्या बढ़ाने, देवस्थानम् बोर्ड के बुकिंग काउन्टर बढ़ाने, जनपद व प्रदेश के निवासियों को ई-पास की प्रक्रिया से बाहर रखने, मनरेगा कर्मियों का वेतन अवमुक्त करने, आंगनबाड़ी कार्यकर्तीयों का मानदेय बढ़ाने, हैली सेवा की प्रक्रिया में टेंडर प्रक्रिया में बदलाव करने समेत कुल 9 विषयों को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात की, जिस पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सकारात्मक रूख देखाते हुए सभी मांगो पर विचार कर निर्णय लेने का आश्वासन दिया है। 

रूद्रप्रयाग भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल ने सीएम से मुलाकात कर निम्न मांगे उनके सम्मुख रखी हैं- 

1- ई-पास रजिस्टेशन करने के उतरान्त 800 लोग यात्रा कर पा रहे हैं, जो बहुत कम है, इस संख्या को बढ़ाकर 2500 केदारनाथ, 3000 बद्रीनाथ, 1500 गंगोत्री, 1200 यमुनोत्री किया जाए, क्योंकि कम संख्या होने के कारण अक्टूबर माह तक की बुकिंग फुल हो गयी है, और यात्रा के इच्छुक यात्री परेशान हो रहे हैे। 

2- बुकिंग न होने के कारण जो लोग केदारनाथ धाम के दर्शन नही कर पा रहे हैं, उन्हें त्रिजुगीनारायण, कालीमठ, गौरा माई, गौरीकुण्ड, गुप्तकाशी, काशी विश्वनाथ मंदिर, ओमकारेश्वर मंदिर आदि स्थानों पर दर्शन की व्यवस्था की जा सकती है, जिससे स्थानीय प्रव्यापारियों का व्यापार चल सके। 

3- गुप्तकाशी, फाटा और सोनप्रयाग में देवस्थानम् बोर्ड का बुकिंग काउन्टर खोला जाए। 

4- उत्तराखण्ड़ व जिले के निवासियों को ई-पास प्रक्रिया के दायरे से बाहर रखा जाए। 

5- मनरेगा कर्मियों का पेंडिग वेतन अवमुक्त किया जाए। 

6- आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का वेतन बढ़ाया जाए। 

7- राशन डीलरों को किराया देने के साथ ही उन्हें मानदेय देने पर विचार किया जाए। 

8- केदारनाथ हेली सेवा की टेंडर प्रक्रिया में पूर्व की भांति प्रतिवर्ष की जाए, अब एक साथ तीन वर्षो के लिए टेंडर किया जाता है जो कि न्यायपूर्ण नही है।

भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल ने बताया कि सीएम ने सभी बिन्दुओं को गम्भीरतापूर्वक सुना और सकारात्मक रूख अपनाते हुए सभी विषयों पर जल्द निर्णय लेने का आश्वासन दिया।