Breaking News

Friday, 10 September 2021

एस0आई0टी0 की जाँच में रूद्रप्रयाग में फिर सामने आये फर्जी गुरूजी, 35 अध्यापकों पर गाज

 एक्सक्लूसिव : एस0आई0टी0 की जाँच में रूद्रप्रयाग में फिर सामने आये फर्जी गुरूजी, अब तक 35 अध्यापकों पर गाज


-कुलदीप राणा ‘आजाद’/केदारखण्ड एक्सप्रेस

रूद्रप्रयाग। रूद्रप्रयाग में फर्जी अध्यापकों की दिनोंदिन बढ़ती सूची से लगता है शिक्षा महकमा फर्जी अध्यापकों के भरोसे चल रहा है। विशेष जाँच दल (एस0आई0टी0) द्वारा लगातार फर्जी शिक्षकों पर शिकंजा कसा जा रहा है। हाल ही में जनपद के जखोली विकासखण्ड के एक अशासकीय विद्यालय में सहायक अध्यापक की बीएड डिग्री फर्जी पाई गई। ऐसे में एस0आई0टी द्वारा शिक्षा महकमें को अध्यपक की तुरंत विभागीय जाँच करने के आदेश दिए गए हैं। 

दरअसल लम्बे समय से एसआईटी द्वारा फर्जी शिक्षकों की गोपनीय जाँच की जा रही है। जाँच में कई अध्यपकों की डिग्रियां फर्जी पाई गई हैं। हाल ही में रूद्रप्रयाग जिले के जनता जूनियर हाई स्कूल लुखन्द्रीधार में तैनात सहायक अध्यापक त्रिलोक सिंह कठैत की बीएड डिग्रीयां एसआईटी द्वारा फर्जी पाई गई। एसआईटी की ओर से शिक्षा विभाग को इसमें तुरंत विभागीय जाँच के आदेश भी दिए गए हैं। बताया जा रहा कि त्रिलोक सिंह कठैत को सेवानिवृत्ति होने में मात्र एक वर्ष बचा हुआ है।  इससे पूर्व कारगिल शहीद स्व. राम सिंह बुटोला मेमोरियल जू0हा0स्कूल जखन्याल गाँव जखोली में भी प्रधानाध्यापक रघुवीर सिंह बुटोला की डिग्रीयां फर्जी पाई गई थी जबकि इसी विद्यालय के सहायक अध्यापक वीरेन्द्र सिंह बिष्ट की एक वर्ष पूर्व फर्जी डिग्री पाये जाने पर उन्हें निलम्बित किया जा चुका है।  



रूद्रप्रयाग जिले में अब तक शिक्षा विभाग में 35 से अधिक अध्यापकों की डिग्रियां एसआईटी की जाँच में फर्जी पाई जा चुकी हैं। जबकि अभी कई अन्य गुरूजी एसआईटी की रडार पर हैं।  शिक्षा विभाग में इतने व्यापक पैमाने पर फर्जी अध्यापकों की नियुक्ति शिक्षा विभाग को कटघरे में खड़ा कर रही है। मुख्य शिक्षा अधिकारी चित्रानंद काला ने बताया कि 10 अध्यापकों की डिग्री पिछले वर्ष एसआईटी की जाँच में फर्जी पाई गई थी जिनमें से कई अध्यापकों को सभी जाँचों के उपरांत निलंम्बित किया जा चुका है। इस वर्ष फर्जी डिग्री धारित 21 अध्यापकों की सूची पहले आ चुकी थी जबकि 14 शिक्षकों की सूची हाल ही में मिली है। एसआईटी के निर्देश के अनुसार उक्त  सभी शिक्षकों की विभागीय जाँच के साथ अन्य कार्यवाही की जा रही है।