Breaking News

Saturday, 7 August 2021

हम अनुसूचित जाति के लोग हैं, इसलिए प्रशासन कर रहा पक्षपात कार्यवाही

 


हम अनुसूचित जाति के लोग हैं, इसलिए प्रशासन कर रहा पक्षपात कार्यवाही


डैस्क : केदारखंड एक्सप्रेस न्यूज़

पोखरी । पिछले 3 दिनों से धरने पर बैठे नखोनियाणा  के ग्रामीणों ने कहा "साहब हम अनुसूचित जाति के गरीब लोग हैं इसलिए प्रशासन पक्षपात कार्यवाही कर रहा है अन्यथा 75  प्रतिशत पोखरी बाजार  अतिक्रमण पर बसा हुआ है।" अतिक्रमण के नाम पर हमारे साथ पुलिस प्रशासन व नगर पंचायत अन्याय कर रही है अगर कार्यवाही होनी है तो आखिर सब पर क्यों नहीं होती है।  


दरअसल  चमोली विकास खण्ड के नखोलियाना के ग्रामीणो का तहसील परिसर में क्रमिक धरना तीसरे दिन भी जारी रहा। धरने पर बैठे राजेन्द्र लाल, विजेन्द्र लाल, प्रदीप कुमार और अरुणा देवी ने कहा कि  प्रशासन ने उनकी मांगो पर गौर नही  किया तो वे क्रमिक धरने को  अनशन मे बदल देगे।उन्होने कहा  कि वे अनुसूचित जाति के लोग हैं , भूमिहीन गरीब और असहाय है, ध्याड़ी मज़दूरी करके अपना जीवन यापन करते हैं  उन्होंने गोदीबैड पर अपने रहने के लिये पक्के आवासीय मकान बनाये थे।

आपको बताते चले 27 मई  2021  को  तहसील प्रशासन, पुलिस प्रशासन और नगर पंचायत द्वारा अतिक्रमण की आड़ में  उनके  बनाये गये इन पक्के मकानों को तोड़कर   उन पर मुकदमे  दर्ज किये गये थे, ग्रमीणों ने कहा ये मुकदमे सरासर झूठे और फर्जी है। साथ ही तहसील  प्रशासन  पुलिस प्रशासन और नगर पंचायत प्रशासन द्वारा उनके साथ भेदभावपूर्ण व्यवहार किया जा रहा है, एकतरफा व्यवहार कर उनका उत्पीन किया जा रहा है जिसे अब बर्दाशत नहीं किया जायेगा। लियाजा  सरकार व प्रशासन और नगर पंचायत द्वारा उन पर दर्ज किए गये फर्जी  मुकदमों को तत्काल  वापस लिया जाय।


ग्रामीणों को  आवास बनाने के लिये भूमि दी जाय ,वरना वे अपना आन्दोलन को व्यापक रुप देने के लिये बाध्य होंगेऔर क्रमिक धरने को अनशन मे बदल देगे। इस मांग का ज्ञापन ग्रामीणों द्वरा एसडीएम के माध्यम से सूबे के मुख्यमंत्री को भेजा जा चुका है ,धरने पर बैठने वालों में  विजयपाल लाल गम्भीर लाल भुपेंद्र लाल , प्रदीप कुमार हरीशचंद्र अनिल कुमार जयपाल कोठियाल ताजबर सिंह विमला देवी अरुणा देवी मीना देवी सरोजनी देवी सहित तमाम ग्रामीण बैठे रहे ।