Breaking News

Sunday, 25 July 2021

गुलदार द्वारा आंगन से उठाई बच्ची का अब तक नहीं चला कुछ पता, क्षेत्र में शिकारी तैनात,दहशत का माहौल


 गुलदार द्वारा आंगन से उठाई बच्ची का अब तक नहीं चला कुछ पता,  क्षेत्र में शिकारी तैनात, दहशत का माहौल

डैस्क केदारखंड एक्सप्रेस न्यूज़

रुद्रप्रयाग अगस्त्यमुनि विकासखंड के सिल्लाबामण गांव में कल शाम करीब 6 बजे प्रमोद कुमार की डेढ़ वर्षीय पुत्री ऋषिका को गुलदार घर के भीतर से उठा ले गया था, जिसके बाद अब तक बच्ची का कुछ पता नहीं चल पाया है। वन विभाग की टीम के साथ साथ ग्रामीण ढूंढ खोज कर रहे हैं जबकि विभाग द्वारा ड्रोन कैमरे की मदद से भी बच्ची की तलाश की जा रही है लेकिन अब तक कहीं भी कोई सुराग नहीं मिल पाया है। हालांकि कल रात जंगल में कुछ पत्थरों पर खून के धब्बे तो मिले थे। दूसरी तरफ आदमखोर गुलदार को मारने के लिए क्षेत्र में शिकारी तैनात कर दिए गए हैं। 

वन क्षेत्राधिकारी रजनीश लोहानी  ने बताया कि लोगों की सुरक्षा के मध्य नजर विभाग द्वारा गुलदार को खत्म करने के लिए शिकारी जॉय हुकिल व उनके दो अन्य साथी क्षेत्र में तैनात कर दिया हैं। जबकि गुलदार को पकड़ने के लिए पिंजरा भी लगा दिया गया है। 

आपको बताते चलें सिल्ला बामण गांव के जाबरी तोक में 2 दिन पूर्व मंजू देवी पर गुलदार ने हमला किया था और कल रात को डेढ़ वर्षीय बच्ची को गुलदार उठा ले गया जिस कारण क्षेत्र में दहशत का माहौल है। आदमखोर गुलदार द्वारा लगातार दो घटनाओं को अंजाम देने के बाद लोग डरे सहमे हुए हैं और वन विभाग से इस गुलदार को तुरंत खत्म करने की मांग कर रहे हैं ताकि लोगों को राहत मिल सके।हालांकि जिस तरह से गुलदार ने लगातार दो दिन हमला किया है उससे इसके बूढ़े गुलदार होने की आशंका जताई जा रही है लेकिन अगर इसे तत्काल खत्म नहीं किया गया तो आने वाले दिनों में यह किसी अन्य व्यक्ति पर हमला कर ले इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है। अलबत्ता वन विभाग को पूरी मुस्तैदी और तेजी के साथ इस गुलदार को खत्म करने की दिशा में ठोस कार्यवाही और रणनीति अपनानी चाहिए।

उधर केदारनाथ के विधायक मनोज रावत ने भी पीड़ित परिवार के पास जाकर ढांढस बंधाया उन्होंने वन विभाग को आदमखोर गुलदार के खात्मे के लिए मुस्तैदी से कार्यवाही करने को कहा है उन्होंने कहा क्षेत्र में इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए वन विभाग पूरी तैयारी कर ले।