Breaking News

Sunday, 18 July 2021

दुखद : बादल फटने से एक ही परिवार के 3 लोगों की दर्दनाक मौत

 दुखद : बादल फटने से एक ही परिवार के 3 लोगों की दर्दनाक मौत


[ डैस्क : केदारखंड एक्सप्रेस न्यूज़]

उत्तरकाशी।लगातार हो रही बारिश एक बार फिर पर्वतीय क्षेत्रों में अपना कहने लगी है उत्तरकाशी से एक दुखद खबर आ रही है जहां भारी अतिवृष्टि से उफान पर आएंगे गदेरे का मलबा घरों के अंदर चला गया जिस कारण  एक ही परिवार के तीन लोगों मलबा में दब गये।


जानकारी के मुताबिक उत्तरकाशी के मांडवा गांव में बादल फटने से एक ही परिवार के 3 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। जबकि 3 लोग घायल हो गये। एसडीआरएफ की टीम प्रभारी निरीक्षक जगदंबा प्रसाद को  DM उत्तरकाशी द्वारा सूचित कराया गया कि पोस्ट से लगभग 3 किमी आगे गंगोरी रोड पर मांडव गांव में नाले से पानी आने पर गांव में कुछ व्यक्ति फंसे हैं और टीम तुरंत घटनास्थल हेतु रवाना हुई जहां बादल फटने के कारण गाँव  में मलबा घुस आया था। जिसमें एक  बच्चे सहित 3 लोगों का पता नहीं लग पा रहा था। 



इसके बाद प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचा और राहत बचाव के कार्य में जुट गया। मलबे से 3 लोगों के शव को बाहर निकाला जा चुका है। जबकि इससे पहले 3 लोगों को सकुशल बाहर निकाल निकाल कर उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजे गए।

मृतक- 

तीनों शवों की पहचान  माधुरी देवी (उम्र 36) वर्ष पत्नी देवानंद,   रीतू देवी (उम्र 38) पत्नी  दीपक भट्ट,  इशू (उम्र 6)  पुत्री दीपक भट्ट।


घायल

वही गणेश बहादुर पुत्र काली बहादुर, रविंद्र पुत्र गणेश बहादुर, रामबालक यादव पुत्र मुकुरु यादव का उपचार जिला चिकित्सालय उत्तरकाशी में चल रहा है।

अतिवृष्टि के कारण गांव की आधारभूत अवसंरचना पूरी तरह से ध्वस्त हो गई। गांव में  पैदल रास्ते पेय जल लाईन टूट गई हैं तो वही विद्युत व्यवस्था भी पूरी तरह से बंद हो गई है। उत्तरकाशी के जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने मांडव गांव पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया और खतरे की जद में आए आवासीय भवनों को खाली करने के निर्देश दिए जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को शीघ्र बिजली बहाल करने वह सड़क मार्गों को युद्ध स्तर पर सुचारू करने के भी निर्देश दिए उन्होंने कहा कहां कंकराडी वह मांडू में खतरे की जद में आए आवासीय भवनों को खाली कराने व नजदीकी स्कूल में उनके रहने खाने की व्यवस्था शीघ्र करवाई जाए।