Breaking News

Friday, 2 July 2021

114 दिन की तीरथ सरकार रही खूब विवादों में

 


114 दिन की तीरथ सरकार रही खूब विवादों में 

डेस्क : केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़ 

देहरादून।  मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कल रात 11:15 बजे राजभवन जाकर राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को अपना इस्तीफा सौंप दिया बीजापुर गेस्ट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि संवैधानिक संकट होने के चलते उन्होंने इस्तीफा दिया है। इसके साथ ही सीएम तीरथ सिंह रावत ने कहा कि वे पार्टी हाईकमान पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह का तहे दिल से धन्यवाद देना चाहते हैं कि उन्होंने उन्हें राज्य का मुख्यमंत्री बनाकर काम करने का मौका दिया। वहीं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि विधानमंडल की बैठक शनिवार को 3:00 बजे होगी और पर्यवेक्षक के तौर पर नरेंद्र तोमर देहरादून आज सुबह 9:30 बजे पहुंच जाएंगे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि विधायक में से ही मुख्यमंत्री का चुनाव किया जाएगा। 

कितनी हुई फजीहत सरकार की

10 मार्च को जब उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शपथ ली थी तो किसी को भी यह अंदाजा नहीं था कि वे अपने 114 दिन के कार्यकाल में राष्ट्रीय स्तर पर विवादों में आ जाएंगे। इस अवधि में उन्होंने इतने विवादित बयान दिए कि सोशल मीडिया पर उनकी जमकर फजीहत हुई थी। 


तीरथ सिंह रावत के बयानों पर छिड़े विवाद से देशभर में सियासत गरमा गई थी। सड़क से लेकर संसद तक में बयानों पर उबाल दिखा था। विपक्षी पार्टियों समेत विभिन्न संगठनों ने सीएम के जींस और फिर शॉर्ट्स से संबंधित बयान की जमकर आलोचना की थी। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ट्विटर और फेसबुक पर कई दिन तक टॉप ट्रेंड में रहे थ। वहीं, फेसबुक पर भी हैशटैग रिप्ड जींस, रिप्ड पैंट, रिप्ड बॉडी और तीरथ सिंह रावत ट्रेंड में रहा था।


वहीं, शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने इस मामले को राज्यसभा में भी उठाया था। उन्होंने कहा था कि प्रदूषण के मुद्दों की जगह नेताओं का ध्यान महिलाओं के कपड़ों पर है। उन्होंने तीखी टिप्पणी कर कहा था कि महिलाओं के कपड़ों को जज करने का अधिकार नेताओं को किसने दिया। वहीं, समाजवादी पार्टी से सांसद जया बच्चन, तृणमूल कांग्रेस से सांसद महुआ मोइत्रा, कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल समेत कई हस्तियों ने तीरथ के बयान की निंदा की थी। वहीं, अभिनेत्री गुल पनाग, अमिताभ बच्चन की नातिन नव्या, कंगना रानौत समेत कई अभिनेत्रियों और मॉडल्स ने भी सोशल मीडिया पर जींस और शॉर्ट्स में अपनी तस्वीरें पोस्ट कर सीएम के बयान की निंदा की थी। आइए जानते हैं सीएम के बयानों के बारे में...

12 साल बाद कुंभ आया, जिसे भी आना है बेहिचक आओ

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत कुर्सी संभालने के बाद हरिद्वार पहुंचे थे। उन्होंने कहा था कि कुंभ 12 साल बाद आता है। अगर इसमें भी इतनी सख्ती होगी तो कैसे चलेगा। कोई आरटीपीसीआर जांच नहीं होगी। जिसे आना है जी भरकर कुंभ में आकर स्नान करे। उन्होंने कहा कि कुंभ को लेकर कोई रोक-टोक नहीं होनी चाहिए। अधिकारियों को कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के यहां मेरी पेशी लगेगी। वह पूछेंगे, डांटेंगे तो कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन कुंभ के अखाड़ों, व्यापारियों और लोगों को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। उनके इस बयान को लेकर खूब चर्चाएं हुईं थी। यहां तक की पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी इसे जोखिम भरा कदम करार दिया था।


मोदी को भगवान मानने लगेंगे लोग

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने हरिद्वार में आयोजित कार्यक्रम में कहा था कि मोदी का चमत्कार है। वह लोगों को कहते हैं त्रेता व द्वापर युग में राम व कृष्ण हुए हैं। राम ने भी समाज का काम किया था तो लोग उन्हें भगवान मानने लगे। आने वाले समय में लोग नरेंद्र मोदी को उसी रूप में मानने लगेंगे। जो काम नरेंद्र मोदी कर रहे हैं, उसकी जयजयकार है। मोदी है तो मुमकिन है।


जींस पहनकर क्या संस्कार देंगे

मुख्यमंत्री ने देहरादून में बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा बच्चों में बढ़ती नशे की प्रवृति विषय पर आयोजित कार्यशाला में विवादित टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा था कि जब वह युवाओं को फटी जींस पहनकर घूमते देखते हैं तो उन्हें आश्चर्य होता है। उन्होंने एक संस्मरण का जिक्र करते हुए कहा कि वह जयपुर से दिल्ली की फ्लाइट पर बैठे हुए थे। उनके बगल में एक महिला बैठी हुई थी। महिला एक एनजीओ चलाती थीं, जबकि उसके पति एक कॉलेज में प्रोफेसर थे। उस महिला ने पांव में गमबूट और घुटनों में फटी जींस पहनी हुई थी। महिला के साथ उसके दो बच्चे भी थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि, एनजीओ चलाती हैं, पति जेएनयू में प्रोफेसर हैं, घुटने फटे दिख रहे हैं, समाज के बीच में जाती हैं, बच्चे साथ में है। क्या संस्कार दे रही हैं।


अमेरिका ने हम पर 200 से ज्यादा सालों तक राज किया

पूर्व सीएम तीरथ ने एक कार्यक्रम के दौरान जनता को संबोधित करते हुए कुछ ऐसा कह दिया था कि लोग हैरान रह गए। उन्होंने उत्तराखंड के रामनगर में एक कार्यक्रम के दौरान कोरोना महामारी को लेकर चर्चा की थी। अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि अन्य देशों के मुकाबले भारत ने इस बीमारी से बेहतर तरीके से निपटा। इसी दौरान उन्होंने कह दिया कि, अमेरिका ने हम 200 से ज्यादा सालों तक राज किया और इस समय वह संघर्ष कर रहा है। जबकि भारत अमेरिका नहीं बल्कि ब्रिटिश का गुलाम रहा। 


सीएम बोले- दो बच्चे थे इसलिए कम राशन दिया

रामनगर में तीरथ ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एक और ऐसा बयान दिया था जिससे विवाद खड़ा हो गया था। उन्होंने कहा कि 'लोगों में सरकार द्वारा बांटे गए चावल को लेकर जलन भी होने लगी कि दो सदस्यों वालों को 10 किलो जबकि 20 सदस्य वालों को एक क्विंटल अनाज क्यों दिया गया ? उन्होंने कहा की  ‘भैया इसमें दोष किसका है, उसने 20 पैदा किए, आपने दो किए, तो उसको एक क्विंटल मिल रहा है, इसमें जलन काहे का