Breaking News

Saturday, 12 June 2021

ब्रेकिंग न्यूज: दुखद खबर: कंरट लगने से लाईनमैंन की मौत, परिजनों लगाया बिजली विभाग पर लापरवाही का आरोप, हंगामा


ब्रेकिंग न्यूज: दुखद खबर: कंरट लगने से लाईनमैंन की मौत, परिजनों लगाया बिजली विभाग पर लापरवाही का आरोप, हंगामा 


डैस्क केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज

रूद्रप्रयाग। घोलतीर शिवनंदी के पास विद्युत लाईन ठीक कर रहा बिजली विभाग के संविदा कर्मचारी की करंट लगने से दर्दनाक मौत हो गई। परिजनों ने विद्युत विभाग पर भारी लापरवाही का आरोप लगाया है। 

दअसल आज दोपहर ढाई बजे करीब शिवनंदी घोलतीर के पास विद्युत लाईन ठीक कर रहा बिजली विभाग का लाईनमैंन दीपेन्द्र कुमार पुत्र प्रेम लाल (34) निवासी मदोला रूद्रप्रयाग को विद्युत करंट लगने से पोल से नीचे गिर गया। बताया जा रहा है कि विभाग के जेई द्वारा एम्बुलेंस के माध्यम से दीपेन्द्र को जिला अस्पताल लाया गया जहां उपचार के दौरान दीपेन्द्र ने दम तोड़ दिया। परिजनों का आरोप है कि हादसा होने के बाद भी परिजनों को किसी भी तरह से सूचना नहीं दी गई। जबकि उन्हें किसी और के माध्यम से घटना की सूचना मिली। 

घटना  के बाद ग्रामीणों में भारी आक्रोश व्याप्त है और ग्रामीणों  ने अस्पताल में जमकर हंगामा काटा। उन्होंने कहा कि जब तक बिजली विभाग द्वारा मृतक के परिजनों को लिखित में मुआवजा के साथ साथ मृतक की पत्नी को नौकरी दिलाने का भरोसा नहीं दिया गया तब तक शव का अंतिम संस्कार नहीं किया जायेगा।

ज्येष्ठ प्रमुख सुभाष नेगी का कहना है कि विद्युत विभाग की घोर लापरवाही के कारण दीपेन्द्र की मृत्यु हुई है क्योंकि दीपेन्द्र के फोन से लाईट चालू करने को लेकर किसी भी प्रकार की काॅल विभाग को नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि दीपेन्द्र घर का कमाने वाला अकेला था ऐसे में उनकी पत्नी और एक तीन साल का बालक पीछे छूट गया है जिनकी परवरिश की जिम्मेदारी विभाग को लेनी चाहिए। ग्राम प्रधान रोशनी देवी ने कहा कि यह विभागीय लापरवाही है और जिस भी स्तर पर से यह लापरवाही हुई है उनके खिलाफ हत्या का मुकदर्मा दर्ज किया जाना चाहिए और उनके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाना चाहिए। प्रधान ने कहा कि मृतक की पत्नी को विभाग नौकरी देने का लिखित आश्वासन देगा उसी के बाद शव को यहां से उठाया जायेगा। 

यूकेडी के युवा नेता मोहित डिमरी ने कहा कि यह एक बहुत बड़ी लापवाही है जिसकी उच्च स्तरीय जाँच होनी चाहिए और जो भी इस घटना का दोषी है उसके खिलाफ सख्त कार्यावाही की जानी चाहिए। इसके साथ ही दीपेन्द्र की पत्नी को विभाग द्वारा नौकरी तत्काल दी जानी चाहिए। 

पूरे मामले पर विद्युत विभाग के अधिशासी अभियंता से दूरभाष पर केदारखण्ड एक्सप्रेस द्वारा बात करने चाही तो उनके द्वारा काॅल रिसीव नहीं की गई। बहरहाल जो भी हो लेकिन इससे पहले भी रूद्रप्रयाग में एक लाईनमैंन की मृत्यु इसी तरह से हुई थी। ऐसे में लगातार लापरवाहीयों की पुनर्रावृति से कई घर उजड़ रहे हैं जो बड़ा जांच का विषय है और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए ताकि ऐसी घटनायें दोबारा घटित न हो।