Breaking News

Wednesday, 12 May 2021

अवैध शराब बन्द करनी है तो, चहिये ऐसा अफसर जरूरी, कमरो से बेची जा रही थी शराब, तहसीलदार ने जब्त की पेटिया और मालिक पर मुकदमा


अवैध शराब बन्द करनी है तो, चहिये ऐसा अफसर जरूरी, कमरो से बेची जा रही थी शराब, तहसीलदार ने जब्त की पेटिया और मालिक पर मुकदमा


@सन्दीप भट्टकोटि/केदारखण्ड एक्सप्रेस 

रुद्रप्रयाग। कोरोना जैसी महामारी और इस महामारी से निपटने की एक तरफ सिस्टम रात दिन जुटा है, और आम जनता भी पूरी तरह लॉकडाउन का पालन कर रही है, ऐसे लॉकडाउन के बाद भी शराब करोबरी गुपचुप तरीके शराब की अवैध बिक्री मे जुटे। जिसे खिलाफ आज मायाली मे  तहसीलदार मो शादाब ने बड़ी कार्यवाही की। शराब कारोबारियों के कमरे से जहा शराब जब्त की वही दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया। 

  हुआ यह की मायाली बाजार मे लम्बे समय से स्थानीय महिलाएं शराबियों से परेसान है। लॉकडाउन के बाद राहत की सास ली लेकिन फिर भी अवैध तरीके से शराब बेचने से महिलायो मे आक्रोश था। इसी को लेकर तहसीलदार तक मामला पहुँच गया जिसके बाद तहसीलदार चौकी प्रभारी जखोली ललित मोहन भट्ट, आरक्षी गुरूदेव लाल व आरक्षी ओमप्रकाश के साथ मौके पर पहुँचे और जिन कमरो से शराब बेची जा रही थी वही पहुँच गए। जहा तीन पेटियो से  24 बोतल अंग्रेजी शराब व 24 केन बीयर बरामद की। 

तहसीलदार ने बताया की ठेका सांचलक दो लोगो के खिलाफ आबकारी एक्ट तथा आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 और महामारी अधिनियम 1897 के तहत कार्यवाही अमल मे लाई जायेगी। उन्होंने कहा की लॉकडाउन मे अवैध शराब की बिक्री गलत है, साथ ही यह कोरोना महामारी को बढ़ावा देने का भी मुख्य कारण है। किसी भी सूरत मे ऐसे लोगो को छोड़ा नही जायेगा। 

वही इस कार्यवाही के बाद स्थानीय महिलाओ ने अफसरों की जमकर सराहना की। उनका कहना है की ऐसे अफसरो की जरूरत है, और हमारा पूरा सहयोग उन्हे मिलेगा।