Breaking News

Monday, 3 May 2021

खांकरा-कोटली में बादल फटने से मची तबाही, लोगों में घरों में घुसा मलबा, खेत-खलिहान तबाह

 


नरकोटा  खांकरा-कोटली में बादल फटने से मची तबाही, लोगों में घरों में घुसा मलबा, खेत-खलिहान तबाह


खांकरा- कांडई मोटरमार्ग बाधित, नरकोटा के पास राष्ट्रीय राजमार्ग बंद, रुद्रप्रयाग। रुद्रप्रयाग जनपद के खांकरा, फतेपुर, गैरसारी, कोटली सहित विभिन्न हिस्सों में बादल फटने से भारी नुकसान हुआ है। 


भूपेंद्र भण्डारी/ केदारखण्ड एक्सप्रेस 

रूद्रप्रयाग। आज शाम के समय हुई अत्यधिक वर्षा के बाद अलग-अलग स्थानों पर बादल फटने की घटनाओं ने कई घरों, गौशाला, पैदल रास्तों, विद्युत लाइनों, पेयजल लाइनों को भारी क्षति पहुंचाई है तो वही कहीं जगहों पर मोटर मार्ग भी बाधित हो गया है। प्रशासन की टीमें घटनास्थल पर मौजूद हैं व घटना का जायजा लेकर हानि का मायना कर रहे हैं जबकि किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए मोर्चा संभाले हुए हैं।

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नन्दन सिंह  रजवार नेजानकारी दी कि  भरदार क्षेत्र के कोटली गांव में बादल फटने से कई घरों में मलबा घुस गया है। गांव के खेत-खलिहान और पैदल रास्ते तबाह हो गए हैं। स्थानीय ग्रामीण राहत-बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। 

वहीं बच्छणस्यूं पट्टी के खांकरा-फतेहपुर में भी बादल फटने से तबाही मची है। खांकरा- कांडई मोटरमार्ग बाधित हो गया है। नरकोटा के पास राष्ट्रीय राजमार्ग बाधित हो गया है। वहीं एक ढाबा के मलबे में दबने की सूचना है। बच्छणस्यूं पट्टी के गैरसारी में भी भारी बारिश से ग्रामीणों के घरों में मलबा घुस गया है। यहां सड़क की ढलान से पानी गांव में घुस रहा है। लोगों के खेत-खलिहान को भारी नुकसान हुआ है। 


Narkota गांव के उप के करीब 200 मीटर ऊपर से भी भारी मलबा आने के कारण ग्रामीणों के घरों गौशालाओं में घुस गया जिस कारण भारी अफरातफरी मच गई ग्रामीणों ने अपनी मवेशियों को सुरक्षित बाहर निकाला जबकि अभी भी गांव को भारी खतरा बना हुआ है हालांकि इस घटना में किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है जिला आपदा प्रबंधन की टीमें मौके पर मौजूद हैं।

वहीं उतराखंड क्रांति दल के युवा नेता मोहित डिमरी ने जानकारी देते हुए बताया कि बादल फटने से खांकरा, फतेहपुत, गैरसारी और कोटली गांव में भारी नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि उन्होंने घटना की जानकारी प्रशासन को दे दी है। उन्होंने प्रशासन से राहत-बचाव कार्य में तेजी लाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि मलबे के कारण कई घरों में मलबा घुसा हुआ है। उन्होंने प्रशासन से नुकसान का आकलन करते हुए जल्द प्रभावितों को अहैतुक राशि देने की मांग की है।