Breaking News

Sunday, 9 May 2021

कोविड़ अस्पताल माधवाश्रम में समय पर नहीं मिल रहा मरीजों को खाना, सफाई व्यवस्था भी लुँज-पुँज


कोविड़ अस्पताल माधवाश्रम में समय पर नहीं मिल रहा मरीजों को खाना, सफाई व्यवस्था भी लुँज-पुँज 

डेस्क: केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज 

रूद्रप्रयाग। कोरोना महामारी से निपटने के लिए रूद्रप्रयाग प्रशासन की व्यवस्था फेल नजर आ रही हैं। रूदप्रयाग के कोविड़ अस्पताल राजकीय माधवाश्रम शंकराचार्य में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीजों को खाना समय पर नहीं दिया जा रहा है। मरीजों का कहना है कि कोरोना से बाद में लेकिन स्वास्थ्य विभाग की लचर  व्यवस्था से मरीज पहले मर जायेंगे। जबकि यहां स्थति शौचालयों में भी भारी गंदगी है, जिस कारण रोगियों को और भी मुश्किलों का समना करना पड़ रहा है। 

बीते रोज यहां भर्ती मरीजों को दोपहर का भोजन शाम की चार बजे दिया गया। जबकि नाश्ते में भी हल्का भोजना दिया जाता है। बताया जा रहा है कि भोजन को लेकर मरीजों द्वारा यहां खूब हंगामा काटा गया। यहां भर्ती दयाल सिंह (प्रधानाचार्य शिशु मंदिर पुनाड़) का कहना है कि कल सुबह 10 बजे हल्का नाश्ता दिया गया था किन्तु उसके बाद दोपहर का लंच सीधे शाम की चार बजे दिया गया वह भी तब जब लोगों द्वारा खूब हल्ला किया गया। जानकारी के अनुसार अभी तक जिला अस्पताल रूद्र्रप्रयाग से ही कोटेश्वर माधवाश्रम में भोजन की सप्लाई की जाती है, जिस कारण भोजन पहुँचने में विलम्ब होता है जबकि भोजन काफी ठंड भी रहता है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की इस तरह की लचर व्यवस्था मरीजों के जीवन पर भारी पड़ सकती है।

उत्तराखण्ड क्रान्ति दल के नेता मोहित डिमरी ने कहा कि  कोविड़ अस्पताल में भर्ती मरीजों की शिकायत है कि उन्हें समय पर भोजन नहीं दिया जा रहा है, स्वास्थ्य विभाग को इसे गम्भीरता से लेना चाहिए। स्वास्थ्य विभाग मरीजों को सुबह दोपहर और रात में समय पर भोजन दे। उन्होंने कहा कि भोजन की गुणवत्ता में भी सुधार किया जाय। उन्होंने जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग से मांग की है कि कोविड़ अस्पताल परिसर में ही मेस का संचालन किया जाय ताकि मरीजों को समय पर भोजन उपलब्ध हो सके। जबकि अभी जिला अस्पताल से ही कोटेश्वर माधवाश्रम में भोजन की सप्लाई हो रही है जो देरी की मुख्य वजह है।