Breaking News

Monday, 10 May 2021

रूद्रप्रयाग में स्वास्थ्य महकमा हुआ बीमार, कैसे होगा मरीजों का उपचार? पूरे जिले में मचा हाहाकार



रूद्रप्रयाग में स्वास्थ्य महकमा हुआ बीमार,  कैसे होगा मरीजों का उपचार? पूरे जिले में मचा हाहाकार

-भूपेन्द्र भण्डारी/केदारखण्ड एक्सप्रेस


रूद्रप्रयाग। जनपद रूद्रप्रयाग कोरोना संक्रमण के साथ साथ फीवर बुखार की चपेट में आ रखा है लेकिन स्वास्थ्य विभाग खुद बीमार पड़ गया है ऐसे में स्वास्थ्य सेवायें पूरी तरह से चरमरा गई हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुखिया मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला चिकित्सक अधीक्षक जहां बीमार हो रखे हैं वही आधे दर्जन से अधिक डाॅक्टर कोरोना संक्रमित हैं। जबकि एसीएमओ और 5 डाॅक्टर बर्फानी बाबा अस्पताल हरिद्वार में अटैच हैं। ऐसे में जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से पटरी से उतर गई है। 

केदारनाथ विधान सभा के विधायक मनोज रावत ने जिले की लड़खड़ाती स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर सचिव स्वास्थ्य एवं स्वास्थ्य शिक्षा उत्तराखण्ड को पत्र भेजकर जिले में अतिरिक्त डाॅक्टरों की तैनाती की मांग की है। उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि रूद्रप्रयाग जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी का स्वज्ञस्थ्य खराब है। बीमारी के कारण वे संभवताया करोना के दबाव को झेलने की स्थिति में नहीं हैं। जिला चिकित्सालय रूद्रप्रयाग के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक करोना पीड़ित हैं व इस महिने के अंत में सेवा निवृत्त हो रहे हैं। सामुदायिक चिकित्सा केन्द्र अगस्त्यमुनि के एम.वो..आई.सी. करोना पीड़ित हैं। उखीमठ विकास खण्ड बिना एम.वो.आई.सी.  के चल रहे हैं। रूद्रप्रयाग जिले के ए.सी.एम.ओ. और 5 चिकित्सक कुंभ के बाद बर्फानी बाबा अस्पताल हरिद्वार में अटैच कर दिए गए हैं जिनमें मेरी विधान सभा के केदारनाथ यात्रा मार्ग की एस.ए.डी. गुप्तकाशी से 2 चिकित्सक और फाटा एक चिकित्सक सम्मलित हैं। जिले के काफी चिकित्सक करोना संकमित हैं। करोना की दूसरी लहर वैक्सीनेशन और कपाट खुलने के बाद यात्रा मार्ग पर स्वास्थ्य सुविधाओं का दबाव वर्तमान स्थितियों में संभल नहीं सकेगा। विधायक मनोज रावत ने कहा कि रूद्रप्रयाग जिले की चिकित्सा व्यवस्था की सीमक्षा कर हरिद्वार में अटैच चिकित्सकों को जिले में वापस भेजने व वरिष्ठ पदों पर चिकित्सकों को पदस्थापित करने का कष्ट करें। 

उधर उत्तराखण्ड क्रांति दल के युवा नेता मोहित डिमरी ने कहा कि रूद्रप्रयाग जनपद में स्वास्थ्य सेवायें भगवान भरोसे चल रही हैं। एक ओर कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है और लोग अकाल मौत की भेंट चढ़ रही हैं वहीं दूसरी ओर फीवर बुखार से कई गाँव पीड़ित हैं लेकिन रूद्रप्रयाग के स्वास्थ्य महकमा खुद बीमार पड़ा हुआ है, जिस कारण जिले में स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति दयनीय बनी हुई हैं और लोग त्राहिमान हो रखे हैं।