Breaking News

Saturday, 8 May 2021

विधायक चैंपियन के 25 वर्षीय बेटे को लगी कोरोना वैक्सीन, स्वास्थ्य विभाग सवालों के घेरे में



 विधायक चैंपियन के 25 वर्षीय बेटे को लगी कोरोना वैक्सीन, स्वास्थ्य विभाग सवालों के घेरे में


जगदम्बा कोठारी/केदारखण्ड एक्सप्रेस

जहां एक ओर प्रदेश में 18 से 44 वर्ष के युवाओं का वैक्सीनेशन न होने के कारण वह कोरोना संक्रमित हो रहे हैं और कई युवाओं ने पर्याप्त इलाज ना मिल पाने के कारण दम भी तोड़ दिया है, वहीं दूसरी तरफ भाजपा के विवादित विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन के 25 वर्षीय बेटे को स्वास्थ्य विभाग हरिद्वार ने नियमों के विपरीत कोरोना का टीका लगा दिया। स्वास्थ्य विभाग ने नियमों को ताक पर रखकर विधायक के 25 वर्षीय बेट पर यह मेहरबानी दिखाई है। जिसको लेकर आम आदमी पार्टी ने कड़ा विरोध जताया है। 'आप' के प्रदेश उपाध्यक्ष अमित जोशी ने आरोप लगाया है कि पिछले माह भाजपा सरकार ने 1 मई से 18 से 44 वर्ष के युवाओं को वैक्सीन लगवाने की बात कही थी और सरकार ने प्रदेश में अभी तक युवाओं के वैक्सीनेशन की शुरुआत नहीं करी है लेकिन उत्तराखंड को गाली देने वाले हरिद्वार के खानपुर विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन के 25 वर्षीय बेटे पर मेहरबानी दिखाकर बैक डोर से उनको वैक्सीनेशन करवाया गया। एक तरफ वैक्सीन ना लगने के कारण युवा संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं और पर्याप्त इलाज ना मिलने के कारण उनकी जान तक जा रही है, लोगों को अस्पताल में जगह नहीं मिल रही है और ऐसे में विधायक के बेटे पर मेहरबानी करना शर्मनाक है।

वहीं चैंपियन के मुताबिक उनकी विधानसभा सहित हरिद्वार जिले में 18 से 44 आयु वर्ग के युवाओं को भी टीके लग रहे हैं इसी क्रम में उनके बेटे को भी टीका लगाया गया है। उन्होंने कनखल स्वास्थ्य केंद्र पर एक 24 वर्षीय युवक के टीकाकरण का भी विवरण उपलब्ध करवाया। उनका कहना है कि उनका बेटा लगातार लोगों की सेवा कर रहा है और कोरोना वॉरियर्स होने के चलते भी उनका टीकाकरण हुआ है। इस समय हमारी प्राथमिकता जीवन बचाने की होनी चाहिए ना कि राजनीति करने की।

कोरोनावायरस की मामलों को लंबे समय से विश्लेषण कर रहे समाजसेवी अनूप नौटियाल ने इस मामले का जिक्र करते हुए कहा है कि इस तरीके के मामले पब्लिक डोमेन में आ रहे हैं इसलिए टीकाकरण के मामले में राज्य सरकार को जनता के लिए खुली और पारदर्शी नीति अपनानी चाहिए