Breaking News

Monday, 10 May 2021

लापरवाही: तुनेटा में बिना रजिस्ट्रेशन के लगा दी 120 वैक्सीन की डोज, केन्द्रों पर हुआ हंगामा, स्वास्थ्य विभाग के आँकड़ों में लगी कुल 90 डोज



लापरवाही: तुनेटा में बिना रजिस्ट्रेशन के लगा दी 120 वैक्सीन की डोज, केन्द्रों पर हुआ हंगामा, स्वास्थ्य विभाग के आँकड़ों में लगी कुल 90 डोज 



-भूपेन्द्र भण्डारी/केदारखण्ड एक्सप्रेस 

रूद्रप्रयाग। 18 से 45 वर्ष के लोगों का आज से वैक्सीनेशन शुरू हो गया है लेकिन रूद्रप्रयाग में कई जगहों पर स्वास्थ्य विभाग की भारी लापरवाहीयां देखने को मिली हैं, जिस कारण वैक्सीनेशन केन्द्रों पर भारी हंगामा भी देखने को मिला। जखोली विकासखण्ड के हाईस्कूल तुनेटा में स्वास्थ्य विभाग ने बिना रजिस्ट्रेशन और स्लाॅट बुक किए ही 120 लोगों को वैक्सीन लगा दी जबकि जिन लोगों को रजिस्ट्रेशन हो रखा था उन्हें वैक्सीन लगी ही नहीं। 

दरअसल आज रूद्रप्रयाग जनपद के 8 केन्द्रों पर 18 से 45 वर्ष के व्यक्तियों पर कोविडशिल्ड की पहली डोज लगाई जानी थी जिसके लिए आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन के साथ ही अप्वाइमेंट किया जाना था। जिन लोगों का आॅनलाइन स्लाॅट हुआ था केवन उन्हीं का टीकाकरण होना था किन्तु जखोली विकासखण्ड के तुनेटा में बिना रजिस्टेªशन और स्लाॅट बुक किए बिना ही 11 बजे तक 120 लोगों पर वैक्सीन लगाई गई। इसके बाद जिन लोगों ने स्लाॅट बुक किए थे उन्होंने यहां हंगामा शुरू कर दिया। करीब दो घंटे की जदोजहद के बाद वैक्सीन मंगाई गई और उसके बाद अन्य लोगों को वैक्सीन लगाई गई लेकिन हैरान करने वाली बात यह है कि स्वास्थ्य विभाग के आँकड़ों में तुनेटा केन्द्र पर केवल 90 लोगों को ही वैक्सीन लगाई गई है। इससे साफ जाहिर होता है की स्वास्थ्य विभाग के भीतर कितना बड़ा गड़बड़झाला है। लोग नगरासू, घोलतीर, रूद्रप्रयाग, तिलवाड़ा सहित दूर दूर से यहां टीका लगाने यहां पहुँचे लेकिन यहां मौजूद स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा अवगत करवाया गया कि 120 का टारगेट पूरा हो गया है जिस वजह से टीका नहीं लगाया जा सकता है। जब पूरी जानकारी ली तो पता चला कि ऐसे लोगों को यहां टीका लगाया गया जिनका आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन हुआ ही नहीं है। 

दो घंटे तक चले हंगामा के बाद केन्द्र की प्रभारी डाॅ. यासमिन ने यहां पहुँच कर स्थिति को देखा तो वह भी हैरान रह गई और उन्होंने उसके बाद जिन लोगों का स्लाॅट बुक था उन्हें वैक्सीन लगाने की व्यवस्था की तब जाकर स्थिति सामान्य हुई। लेकिन बावजूद वह इस लापरवाही मानने को तैयार नहीं थी। जबकि इस सेंटर पर करीब 130 से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन हुआ किन्तु आँकड़ों में केवल 90 लोगों पर कोविडशिल्ड की डोज लगाई गई दर्शाया गया है। साफ है कि विभाग की किस तरह से लापरवाही और अव्यवस्था है। 

वहीं रूद्रप्रयाग के जीआईसी रूद्रप्रयाग में रजिस्ट्रेशन होने के बावजूद भी टीकाकरण की प्रक्रिया दो घंटे बाद यानि 12 बजे से आरम्भ हुई जिस कारण भारी अव्यवस्था हो गई। व्यापार संघ के अध्यक्ष अंकुर खन्ना का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण लोगों को कड़ी धूम में अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा वैक्सीनेशन को लेकर पहले से कोई रणनीति  नहीं बनाई गई थी। जिस कारण अव्यवस्था हावी रही।