Breaking News

Tuesday, 6 April 2021

सनसनी खेज मामला : 14 वर्षीय नाबालिक का उसके पिता ने 6 हजार में में जबरन करवाया विवाह

सनसनी खेज मामला : 14 वर्षीय नाबालिक का  उसके पिता ने 6 हजार में  में जबरन  करवाया विवाह

सन्दीप बर्त्वाल/ केदारखण्ड एक्सप्रेस 

पोखरी। पोखरी विकासखंड के एक गांव में 14 वर्षीय नाबालिका को उसके पिता द्वारा 32 वर्ष के युवक के साथ मात्र 6 हजार रुपए  के लिए विवाह करवाया गया। उसके बाद उसके तथाकथित ससुरालियों द्वारा नाबालिक के साथ मारपीट की गई और होली के दौरान उस पर मिट्टी तेल


छिड़ककर उसे जलाने की और जान से मारने की कोशिश तक की गई। ₹6000 के लिए कोई पिता इतनी हद तक गिर सकता है यह तो कोई सोच भी नहीं सकता है लेकिन नाबालिग बच्चियों की खरीद-फरोख्त करने वाला एक बड़ा गिरोह क्षेत्र में सक्रिय है जो गरीब परिवारों को निशाना बना रहा है। पोखरी क्षेत्र में ऐसे कहीं गिरोह सक्रिय हैं जो यहां के गरीब परिवारों की बच्चियों को खरीद कर बाहर ले जा रहे हैं और उनसे अनैतिक कार्य करवा रहे हैं।


चमोली जनपद के विकासखण्ड नागनाथ पोखरी क्षेत्र से एक चौकाने वाला मामला सामने आया है जहाँ पिता को बेटी की शादी का झासा देने के नाम पर एक महिला बिचौलिया ने 6 हजार रुपये में 8वीं में पढने वाली 14 वर्षीय छात्रा को बेच दिया। जब कुछ दिनों तक बालिका विद्यालय नही आई तो आध्यापको द्वारा परिजनो से कारण पूछा तो बताया गया की बालिका की शादी हो गई, इस पर अध्यापक हैरान हो गये।


इसके बाद जब अध्यापकों ने पूरी जानकारी ली तो जो सामने आया वह वास्तव में कोई भी चौक जाएगा। दरअसल  गाँव की ही एक महिला बिचौलियां द्वारा इस नाबालिक लड़की के पिता को बहला-फुसलाकर और पैसों के साथ साथ बेटी की शादी का झांसा देकर 6 हजार में 14 वर्षीय नाबालिक को गोपाल पुत्र जोगाराम (32 वर्ष), भगत सिंह कालोनी, इन्द्रा रोड़ दक्षिणी देवी पब्लिक स्कूल के सामने को बेच दिया। अध्यापकों के भारी दबाव के बाद नाबालिक को उनके चंगुल से वापस लाया गया है लेकिन नाबालिक बच्ची ने वापस आकर जो कुछ कहा वह अब तक की कहानी से भी खौफनाक है।  


तथाकथित ससुरालियों के चगुलों से छुड़ाकर जब उसका पापा उसे वापस लाया तो बेटी ने जो अपना दर्द बयां किया उससे किसी का भी दिल पसीज जाएगा। नाबालिक बच्ची ने बताया कि शादी के तुरंत बाद से ही उसके पति द्वारा शराब पीकर उसके साथ रोज मारपीट की गई और उसके साथ जानवरों जैसा सलूक किया गया। बीते होली के दिन उसके पति द्वारा शराब के नशे में उसके साथ मारपीट करने के साथ ही उस पर मिट्टी का तेल डालकर उसे जलाने की कोशिश की गई।

इस पूरे मामले में आठवीं में पढ़ने वाली नाबालिग के अध्यापक उपेंद्र सती द्वारा सोशल मीडिया पर यह मामला डाला गया जिसके बाद पूरा मामला सामने आया। उपेंद्र सती ने कहा कि इस तरह की गिरोह  क्षेत्र में बहुत पहले से सक्रिय हैं जो यहां के गरीब परिवारों को टारगेट बनाकर उनकी नाबालिग बच्चियों की खरीद-फरोख्त कर रहे हैं और उन्हें बाहर बेचा जा रहा है उन्होंने कहा कि प्रशासन और पुलिस को इस पर गंभीरता से ध्यान देकर कार्यवाही करनी होगी ताकि इस तरह के गिरोह का पर्दाफाश हो सके।

Adbox