Breaking News

Tuesday, 2 March 2021

जिलाधिकारी कार्यालय के समीप लगी भीषण आग, 3 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद वन विभाग ने पाया आग पर काबू


 जिलाधिकारी कार्यालय के समीप लगी भीषण आग, 3 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद वन विभाग ने पाया आग पर काबू


डेस्क केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़ 

रुद्रप्रयाग। जिले में फायर सीजन शुरू होते ही चौतरफा वनाग्नि  की घटनाएं सामने आ रही हैं लेकिन वन विभाग की मुस्तैदी और सतर्कता के कारण जल्दी ही आग पर काबू पाया जा रहा है इसके लिए वन विभाग रुद्रप्रयाग द्वारा विशेष तैयारी की गई है।

वन विभाग रूद्रप्रयाग के मास्टर कन्ट्रोल रूम, रूद्रप्रयाग को सूचना प्राप्त हुयी कि अगस्त्यमुनि रेंज के अन्तर्गत जनपद रूद्रप्रयाग के जिलाधिकारी, कार्यालय के समीप भीषण आग लगी है। सूचना प्राप्त होने पर प्रभागीय वनाधिकारी, रूद्रप्रयाग के मास्टर कन्ट्रोल रूम मे ड्यूटी पर तैनात कर्मी द्वारा बेस वायरलैस सेट से अगस्त्यमुनि क्रू-स्टेशन एवं मोबाईल वाहन, रूद्रप्रयाग को सूचित किया गया तथा निर्देश दिये गये कि वे अपने मानव संसाधन एवं वनाग्नि नियंत्रण मे उपयोग मे लाये जाने वाले उपकरणों सहित घटनास्थल पर पहुंचे। मोबाईल वाहन द्वारा उक्त घटनास्थल पर पहुंकर लगभग 3 घण्टे की कडी  मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया तथा आग को अन्यत्र फैलने से रोका गया। इस वनाग्नि मे लगभग 1.0 है0 (पंचायती वन) की वन सम्पदा को क्षति पहुंची तथा वनकर्मियों की टीम द्वारा लगभग 6.50 है0 क्षेत्रफल को जलने से बचाया गया।  


इस कार्यवाही मे वन विभाग के अधिकारी कर्मचारियों का विवरण निम्न प्रकार है- उमेदू लाल, वन आरक्षी, भरत सिंह, वन आरक्षी, नरेन्द्र सिंह रावत, दैनिक श्रमिक हरेन्द्र सिंह, फायर वाचर वनाग्नि रोकथाम के लिये मोबाईल टीम के सदस्य शिशुपाल सिंह वन दरोगा, दिग्विजय झिक्ंवाण, वन आरक्षी, सूरज सिंह, फायर वाचर प्रेम सिंह नेगी, फायर वाचर आदि शामिल थे। 

गौरतलब है फायर सीजन को देखते हुए डीएफओ वैभव कुमार सिंह ने वन विभाग कार्यालय में एक मास्टर कंट्रोल रूम बनाया हुआ है जिसमें जहां कहीं भी आग की घटनाएं घटित होती है  मास्टर कंट्रोल रूम को बताए जाने पर तुरंत कार्यवाही अमल में लाई जाती है।

Adbox