Breaking News

Sunday, 14 February 2021

तो क्या धारी देवी के प्रकोप से घट रही हैं आपदा की घटनाएं? धारी देवी डोलीको घुमाना धारी देवी के पुजारी ने बताया अशुभ,

धारी देवी डोलीको घुमाना  धारी देवी के पुजारी ने बताया अशुभ


 

रूद्रप्रयाग। रूद्रप्रयाग की केदारनाथ विधानसभा में आजकल हाईकोर्ट के प्रतिष्ठित वकील सजंय शर्मा मां धारी देवी की डोली यात्रा निकाल खासी चर्चाओं में हैं, एक और जहां उनके समर्थक धारी मां की डोली यात्रा को गांव गांव पहुचा एतिहासिक बनाने में तुले हैं, वही कई लोगों द्वारा संजय शर्मा पर लोगों की आस्था की प्रतीक से खिलवाड़ करने का आरोप भी लगाया जा रहा है, 

दरअसल संजय शर्मा इस बार बीजेपी के टिकट पर केदारनाथ विधानसभा से चुनाव लड़ने की हरसत पाले हैं, और संयोग से चुनावी वर्ष से पहले वे धारी डोली की यात्रा का आयोजन भी कर रहे हैं, ऐसे में उनकी राजनीति पर सवाल उठना कोई बड़ी बात नही है, लेकिन इस बार सवाल किसी राजनेता ने नही बल्कि उसी मां धारी देवी के पुजारी ने उठाया है, जिस धारी मां की डोली को वो केदारनाथ विधानसभा के गांव गांव घुमा रहे हैं। धारी देवी के पुजारी आशीष देवी पांडे ने भारी अशुभ की भविष्यवाणी की है।
आपको शायद याद होगा कि केदारनाथ आपदा के समय भी मां धारी के मंदिर को उठाने को लेकर सवाल उठे थे, और उसके साथ ही 2013 की केदारनाथ की आपदा को भी कई लोग जोड़कर देखते आए हैं, ये भी संयोग ही है कि जिस दिन रूद्रप्रयाग के संजय शर्मा ने धारी देवी से अपनी डोली यात्रा शुरू की थी उसी दिन चमोली के तपोवन क्षेत्र में भी भंयकर आपदा आयी थी, ऐसे में धारी देवी से जुड़ी मान्यताओं से छेड़छाड़ पर लोग हमेशा से ही भयभीत रहे हैं। और अब धारी देवी के पुजारी आशीष देवी पांडे ने धारी देवी की कथित डोली घुमाकर अपनी राजनीति चमकाने वाले लोगों को 2 साल के भीतर भंयकर अशुभ की चेतवानी देकर फिर डरा दिया है।

अपनी फेसबुक पोस्ट पर बयान जारी करते हुए धारी देवी के पुजारी आशीष देवी पांडे ने कहा कि ’’साथियों मां धारी देवी भगवती पर विशेष आस्था रखने वाले सभी भक्तजनों, मैं आशीष देव पांडे पुजारी मा धारी देवी ,आप सभी लोगों से नम्र निवेदन एवं हाथ जोड़कर विनती करता हूं की मा धारी देवी का कोई भी निशान डोली कहीं पर भी गमन  नहीं करती है। जो भी लोग मां धारी देवी की डोली आदि को ले जाने की बात करते हैं, निशान को ले जाने की बात करते हैं, तो मैं उन सभी लोगों से भी करबद्ध निवेदन करता हूं कि कृपया ऐसा ना करें आप लोग मां धारी देवी के नाम पर आस्था के साथ खिलवाड़ ना करें। मां धारी देवी की कोई भी आधिकारिक डोली धारी देवी मंदिर कलियांसौर से एवं मंदिर समिति की सहमति से कहीं पर भी नहीं जाती है।। अगर कोई अपने स्वार्थ वश ऐसा करता है तो आपदा आप लोगों के समक्ष स्वयं मुंह उठाए खड़ी हो रखी है।। कृपया पूजन पाठ भजन कीर्तन आदि मां धारी देवी की करिए,लेकिन इस प्रकार की छद्म डोली निशान आदि को ना ले जाइए वरना आप भी बिल्कुल सुरक्षित नहीं रहेंगे।। यह मैं आज भविष्यवाणी करता हूं और अगर आप इसी प्रकार से करते रहे तो अगले 2 वर्ष के भीतर -भीतर आप लोगों को भयंकर परिणाम भुगतने पड़ेंगे’’