Breaking News

Sunday, 14 February 2021

आलम का शव मिलने से दोगी पट्टी दुखी है, 85 बुढ़ी माँ सदमे में है और पत्नी के बुरे हाल, आखिर 4 बेटियो की जिम्मेदारी कौन सम्भालेगा अब?

 


आलम का शव मिलने से दोगी पट्टी दुखी है, 85 बुढ़ी माँ सदमे में है और पत्नी के बुरे हाल, आखिर 4 बेटियो की जिम्मेदारी कौन सम्भालेगा अब

टिहरी। ऋत्विक कंपनी में इलेक्ट्रिशियन श्री आलम सिंह पुंडीर (45)का जैसे आज सुबह उस आभागी टनल में शव मिला, तो टिहरी गढ़वाल जिले की दोगी पट्टी के लोयल गांव में कोहराम मच गया। उसकी 85 वर्ष की बूढ़ी माँ की आँखे 8 दिन से अपने बेटे को देखने के लिए पथरा गई हैं पत्नी का बुरा हाल है चार बेटियां हैं बड़ी बेटी 14 वर्ष की हैं। चाचा, ताऊ, बहनोंई तपोवन रवाना हो गए हैं। देर रात तक शव गांव लाया जाएगा। 

पहले दिन से ही सवाल उठाया जा रहा है कि सब मृतकों के परिजनों को NTPC 20-20 लाख रुपये दे। ऐसे भी परिवार हैं जो आलम  जैसे पर ही निर्भर थे। कौन संभालेगा इन परिवारो को। लोग गरीबी में जी रहे हैं। 50 लोगों शव मिले हैं अब तक। आज 12 लोगों के शव मिले हैं। 100 से ज्यादा लोग लापता हैं। 

पहले दिन ही देहरादून एयरपोर्ट में केंद्रीय ऊर्जा मंत्री श्री आरके सिंह ने कहा था कि, एनटीपीसी के 91 मृतक कर्मचारियों को 20- 20 लाख  रुपए दिए जाएंगे। लेकिन आलम जैसे परिवारों के लिये यह घोषणा नहीं थी जबकि उसका शव उसी टनल में मिला। 

राज्य के मुख्यमंत्री जी ने 4- 4  लाख रुपये की देने के लिए चमोली प्रशासन को धन जारी किया है। नो डाउट पूरी मशीनरी लगी हुई है।  नई दिल्ली में एक राज्यसभा सांसद जी कह रहे हैं ऊर्जा मंत्री से मृतकों के परिजनों को रुपए देने के लिए आग्रह किया है। काफी बड़े-छोटे नेता, सांसद वहां से लौट आये हैं या उनका आना- जाना लगा है, पत्रकार अपना काम कर रहे हैं वह साइड स्टोरी निकाल रहे हैं लेकिन असली बात कोई कर ही नहीं रहा है जो श्री आरके सिंह को कहे कि, जो अनाउंसमेंट आपने  91 NTPC कर्मियों के लिए की थीं उसको ढाई सौ लोगों को किया जाए।

#shishpal gusaiकी फेसबूक वाल से साभार।