Breaking News

Saturday, 9 January 2021

यहाँ फार्मेसिस्ट की दादागिरी चलती है, डॉक्टर ना नर्स टिकती। मरीज भी भागते दूर



यहाँ फार्मेसिस्ट की दादागिरी चलती है,  डॉक्टर ना नर्स टिकती। मरीज भी भागते दूर



-सुनील सेमवाल/केदारखण्ड एक्सप्रेस

जखोली। 12 वर्षों से एक अस्पताल पर एक फार्मासिस्ट का राज चल रहा है। यहां मरीज आना तो दूर डॉक्टर और नर्स भी यहां आने से कतराती है। अलबत्ता फार्मेसिस्ट सरकारी तनख्वाह पर मौज उड़ा रहा है और क्षेत्रीय जनता करोड़ों का अस्पताल होने के बावजूद भी इलाज के लिए दर-दर भटक रही है। जी हां हम बात कर रहे हैं जखोली विकासखंड के बेनोली स्थित अति प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की जहां फार्मेसिस्ट अरुण मैठाणी  के दुर्व्यवहार से सब परेशान हैं।

फार्मासिस्ट अरुण मैठाणी  के दुर्व्यवहार से तंग आकर ग्रामीणों ने क्षेत्रीय विधायक  भरत सिंह चौधरी, मुख्य चिकित्साधिकारी से मुलाकात कर फार्मासिस्ट के तबादले को लेकर ज्ञापन सौंपा। ग्रामीणों का कहना था कि  अति प्रारथमिक स्वास्थ्य केंद्र बैनोलि में तैनात फार्मासिस्ट का तबादला शीघ्र किया चाहिए।  उक्त स्वास्थ्य कर्मी द्वारा आने वाले मरीजों के साथ दुव्यवहार किया जाता है जिस कारण यहां मरीज आने से कतराते हैं।

तिलवाड़ा-मयाली मुख्य मार्ग पर बना यह अस्पताल क्षेत्र के दर्जनों गांव के लिए महत्वपूर्ण है परन्तु फार्मासिस्ट के  खराब व्यवहार के कारण कोई भी अस्पताल में जाना नहीं चाहता, छोटी मोटी बीमारियों के लिए भी मरीजों को रुद्रप्रयाग की दौड़ लगानी पड़ती है। ग्रामीणों का कहना है कि अगर फार्मासिस्ट का जल्द तबादला ना किया गया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। उधर अरुण मैठानी से इस संबंध में जब बात की गई तो उन्होंने इस पर किसी भी तरह की टिप्पणी करने से इंकार कर दिया।

Adbox