Breaking News

Thursday, 24 December 2020

स्वरोजगार के लिये पहाड़ी थीम पर दिया जोर, आवेदकों के लिये साक्षात्कार

स्वरोजगार के लिये पहाड़ी थीम पर दिया जोर, आवेदकों के लिये साक्षात्कार



रूद्रप्रयाग। पर्यटन विभाग द्वारा आयोजित वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार योजना एवं दीनदयाल उपाध्याय गृह आवास होमस्टे विकास योजना के अंतर्गत चयनित आवेदकों के साक्षात्कार हेतु ज़िला अनुश्रवण समिति की बैठक जिला कार्यालय सभागार में आयोजित की गई।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी मनुज गोयल ने कहा कि होमस्टे योजना व गैर वाहन मद के अंतर्गत भवन निर्माण में पहाड़ी थीम अर्थात पारंपरिक काष्ट व पठाल शैली का प्रयोग किया जाय। इससे पहाड़ी परम्परा से देश विदेश के पर्यटक रूबरू हो सकेंगे व उत्तराखंड को अपनी विशिष्ट पहचान मिलेगी। जिलाधिकारी ने पर्यटन अधिकारी को निर्देशित किया कि भविष्य में योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाले आवेदकों की पत्रावलियों को समस्त दस्तावेजों के साथ पूर्ण कर सबंधित बैंकों को प्रेषित किया जाय। कहा कि आवेदकों को अनावश्यक बैंक व विभाग के चक्कर न लगने पड़े, इसका लीड बैंक अधिकारी व पर्यटन अधिकारी विशेष ध्यान रखे।  

वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार योजना में वाहन मद के अन्तर्गत 07 आवेदक, गैर वाहन मद में 04 आवेदक व दीनदयाल उपाध्याय गृह आवास होम स्टे विकास योजना के अंतर्गत 5 आवेदकों के द्वारा आवेदन किया गया था जिन्हें आज जिला अनुश्रवण समिति के सम्मुख प्रस्तुत किया गया। 

बैठक में एआरटीओ मोहित कोठारी ने बताया कि वाहन मद के अंतर्गत 03 आवेदकों के ड्राइविंग लाइसेंस में पहाड़ी मार्गों के लिए पृष्ठांकन नहीं होने के कारण अस्वीकृत किया गया हैं। उन्होंने आवेदकों को यथाशीघ्र पहाड़ी पृष्ठांकन के लिय आवेदन की बात कही । समिति द्वारा सभी आवेदको की पत्रावलियों के दस्तावेजों की गहन जांच कर वित्त पोषण हेतु बैंक को प्रेषित किया जाएगा। 

बैठक में आरसेटी निदेशक वी के गुप्ता,आरटीओ मोहित कोठारी, डीडीएम नाबार्ड अभिनव कापड़ी एवं बैंकों के अधिकारी भी मौजूद थे।