बद्रीनाथ में उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश पर्यटक आवास गृह का किया शिलान्यास

 


बद्रीनाथ में उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश पर्यटक आवास गृह का किया शिलान्यास 


-सोनिया मिस्रा/ केदारखण्ड एक्सप्रेस


चमोली। प्रदेश के मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को बद्रीनाथ धाम में लगभग 20 नाली भूमि में बनने वाले उत्तर प्रदेश पर्यटक आवास गृह का शिलान्यास किया। बद्रीनाथ धाम में 11.09 करोड़ की लागत से 40 बैड के तीन मंजिला उत्तर प्रदेश पर्यटक आवास गृह निर्माण नए सीजन से शुरू होगा। इस पयर्टक आवास गृह में श्रद्वालुओं एवं पर्यटकों सभी आधुनिक सुविधाएं मिलेंगी। 

मुख्यमंत्री  त्रिवेंन्द्र सिंह रावत एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ मंगलवार को बद्रीनाथ धाम पहुॅचे। यहाॅ पर करीब 20 मिनट तक भगवान बद्री विशाल के दर्शन एवं पूजा अर्चना कर पूरे देश और प्रदेश की खुशहाली के लिए प्रार्थना की। मंदिर परिसर में प्रवेश करने पर मंदिर के तीर्थ पुजारियों ने उनका स्वागत किया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने मंदिर गर्भगृह में भगवान विष्णु की आराधना की। मंदिर परिसर में मुख्यमंत्री ने श्रद्वालुओं और स्थानीय जनता का अभिवादन भी किया। सीएम के भ्रमण से पूर्व बद्रीनाथ मंदिर परिसर सहित आसपास क्षेत्रों को पूरी तरह सेनेटाइज्ड किया गया और शारीरिक दूरी का भी पालन किया गया। इस दौरान सुरक्षा के भी पुख्ता इंतेजाम किए गए थे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत के कारण मुझे कई वर्षो के बाद भगवान बद्री केदार के दर्शन करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि पर्यटन विकास की दृष्टि और श्रद्वालुओं की श्रद्वा को ध्यान में रखते हुए आज की आवश्यकता के अनुरूप उत्तराखंड के चारो धामों का विकास जिस नई ऊॅचाई को छूते हुए दिखाई दे रहा है वह अत्यंत सराहनीय और अभिनंदनीय है। उन्होंने उत्तराखंड सरकार द्वारा राज्य के विकास के लिए किए जा रहे कार्यो की सराहना की। मंुख्यमंत्री  योगी ने कहा कि उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के बीच पिछले 18-20 वर्षो से बहुत से विवाद चले आ रहे थे। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेद्र सिंह रावत  ने अपने रचनात्मक और सकारात्मक पहल से इन सभी समस्याओं का समाधान करने में सफलता प्राप्त की है। इसके परिणाम स्वरूप ही हरिद्वार में अलकनंदा होटल जो उत्तर प्रदेश पर्यटन निगम का था, दोनों राज्यों की आपसी सहमति से तय किया गया कि अलकनंदा होटल उत्तराखंड सरकार को सौंपेंगे और उत्तर प्रदेश सरकार उसी के बगल में एक नया भागीरथी पर्यटन आवास गृह बनाएगा। इस अतिथि गृह का निर्माण लगभग पूर्ण हो चुका है और कुंभ से पहले इसे जनता को समर्पित किया जाएगा। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड मेरे लिए नया क्षेत्र नही है। यह मेरी जन्मभूमि भी है। मैने अपना बचपन उत्तराखंड में ही बिताया है। और जब भी मुझे उत्तराखंड आने का अवसर मिलता है तो मुझे बहुत अतंकरण से आनंद की अनुभूति होती है। पिछले तीन दिनों से न केवल यहाॅ के तीर्थ स्थलों के दर्शनों का सौभाग्य अर्जित कर रहा हॅू बल्कि यहाॅ के पकवानों का भी आनंद ले रहा हूॅ। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश पर्यटन आवास गृह निर्माण कार्य नए सीजन के साथ प्रारम्भ किया जाएगा और एक वर्ष के अंदर इस कार्य को पूरा कर लिया जाएगा। कहा कि भगवान बद्रीनाथ जी के धाम को अनेक संतों एवं योगियों ने अपनी साधना और तप से पवित्र किया है और यह योगीराज सुन्दरनाथ जी की भी तपस्थली रही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के साथ साथ पूरे देश के श्रद्वालुओं को यहाॅ पर पर्यटन और आवास की बेहतर सुविधा मिलने के साथ साथ यहाॅ के अनेक तीर्थ स्थलों के दर्शनों का सौभाग्य प्राप्त होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार उत्तराखंड सरकार के साथ विकास और पर्यटन की सभी संभावनाओं के साथ मिलकर कार्य करेंगी।

मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि पिछले तीन दिनों से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ जी के साथ  केदार व बद्रीनाथ के दर्शनों का अवसर मिला। उन्होंने कहा आज बद्रीनाथ धाम में उत्तर प्रदेश के पर्यटन आवास गृह का शिलान्यास एक बडी उपलब्धि है। देशभर से श्रद्वालु एवं पर्यटक यहाॅ आते है, इस पर्यटक आवस गृह के बनने से उनके लिए एक और सुविधा बढ जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि योगी जी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश आज विकास के पथ पर तेजी से आगे बढ रहा है। इस अवसर मुख्यमंत्री ने राज्य के सीमांत जनपद चमोली में भारी बर्फवारी से पर्यटकों के आवगमन में हो रही असुविधाओं को दूर करने के लिए स्नोकटर मशीन उपलब्ध कराने की घोषणा भी की।

इस दौरान मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत नेे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्य नाथ को प्रतीक चिन्ह एवं शाॅल भेंट किया। जिला प्रशासन की ओर से जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री  योगी जी को स्थानीय दलहन उत्पाद भी भेंट किए।

इसके बाद दोनों प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों ने माणा गांव से आगे माणा पास जाने वाली सड़क पर लगभग 5 किमी दूर तक भ्रमण किया। साथ बीआरओ के कमांडिग आफिसर कर्नल मनीष कपिल से बाॅडर एरिया की सड़क की जानकारी भी ली। दोनों मुख्यमंत्रियों ने माणा में आईटीबीपी, आर्मी तथा बीआरओ के जवानों से भी मिले और मिष्ठान वितरण करते हुए उनका उत्साह बर्धन किया। इसके बाद दोनों मुख्यमंत्रियों ने माणा गांव से आगे सरस्वती नदी के ऊपर बने भीमपुल तक पैदल भ्रमण कर तीर्थ स्थानों की जानकारी भी ली। 

विदित हो कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सोमवार को ही बद्रीनाथ पहुॅचना था, लेकिन खराब मौसम एवं बर्फबारी के चलते सीएम को रात्रि विश्राम गौचर में करना पडा। मंगलवार को मौसम साफ होने पर सीएम सुबह गौचर से बद्रीनाथ धाम पहुॅचे। यहाॅ पर भगवान बद्री विशाल की पूजा अर्चना की। इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने बद्रीनाथ धाम में उत्तर प्रदेश पर्यटक आवास गृह का शिलान्यास किया। बद्रीनाथ धाम में लगभग 20 नाली भूमि पर 11.09 करोड़ की लागत से उत्तर प्रदेश पर्यटक आवास गृह का निर्माण किया जाएगा। प्रकृति ने भी सीएम योगी आदित्यनाथ का स्वागत किया। सोमवार को बद्री-केदार सहित उच्च हिमालयी क्षेत्रों में खूब बर्फबारी हुई।

इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, उत्तर प्रदेश के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अविनाश अवस्थी, एसीएस संजय सिंह, ओसडी आरबीएस रावत, भाजपा जिला अध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट सहित जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया, पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चैहान, मुख्य विकास अधिकारी हंसादत्त पांडे, एसडीएम अनिल कुमार चनियाल सहित अन्य उपस्थित थे।

बद्रीनाथ में उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश पर्यटक आवास गृह का किया शिलान्यास बद्रीनाथ में उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश पर्यटक आवास गृह का किया शिलान्यास Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on November 17, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.