रेलवे लाइन का निर्माण कर रही कम्पनियों द्वारा रेलवे प्रभावितों और स्थानीय बेरोजगारों की अनदेखी को लेकर 1 नवम्बर को करेंगे सांकेतिक धरना - भरत चौधरी

 


रेलवे लाइन का निर्माण कर रही कम्पनियों द्वारा रेलवे प्रभावितों और स्थानीय बेरोजगारों की अनदेखी को लेकर 1 नवम्बर को करेंगे सांकेतिक धरना - भरत चौधरी

 Kedarkhand Express News  

Rudraprayagऋषिकेश कर्णप्रयाग रेलवे लाइन के तहत रुद्रप्रयाग में चल रहे निर्माण कार्यों से खफा स्थानीय विधायक भरत सिंह चौधरी ने रेलवे का निर्माण कार्य कर रही कंम्पनियों द्वारा स्थानीय प्रभावितों और स्थानीय बेरोजगारों की उपेक्षा को लेकर एक नवम्बर को सुमेरपुर में एक दिन का सांकेतिक धरना देने का ऐलान किया हैं। उन्होने का की एक सप्ताह के भीतर  स्थानीय प्रभावितों व स्थानीय बेरोजगारों का संज्ञान नहीं लिया तो वो स्थानीय जनता के साथ मिलकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठेगें। उन्होने रेलवे विकास निगम के अधिकारियों द्वारा भी सिर्फ आश्वासन ही दिये जा रहे।


अभी तक इसका उचित समाधान नहीं लिकाला हैं।उन्होने  नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा की उत्तराखंड सरकार की औद्यौगिक विकास नीति के कोई भी प्रोजेक्ट यदि राज्य में संचालित होता है तो उसमें 70% रोजगार स्थानीय स्तर पर मिलना चाहिए। लेकिन रेलवे विकास निगम जिन कम्पनियों के माध्यम से निर्माण कार्य कराया जा रहा है, उनके द्वारा अभी तक कहीं भी प्रभावितों व स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार मुहैया नहीं कराया गया है। साथ ही न ही डीपीआर में जो नियम शर्ते थी,  उनके अनुसार कार्य हो रहा है, कही भी सडक और बस्तियों के आस पास निर्माण कार्य हो रहे हैं, वहाँ पानी का छिडकाव नहीं हो रहा है, सुमेरपुर में  स्थानीय लोग इसको लेकर बहुत परेशान हैं। उन्होने कहा की निर्माण कार्य कर कम्पनियों द्वारा बाहरी लोगों को उसमें रोजगार दिया जा रहा और बाहरी लोगों के मशीनें, ट्रक और गाडियों को निर्माण कार्यो में लगाया गया है, जिससे स्थानीय प्रभावितों और बेरोजगारों में बहुत रोष हैं। उन्होने कहा की रेलवे विकास निगम के द्वारा जिन कम्पनियों के माध्यम से  निर्माण कार्य कराया जा रहा है, उनको स्थानीय प्रभावितों व बेरोजगारों को उनकी योग्यता के अनुसार प्रोजेक्ट में रोजगार देना चाहिए। तथा स्थानीय प्रभावितों के मशीने,ट्रक, गाड़ियों को निर्माण कार्यों में प्राथमिकता देनी चाहिए। जिससे जो यहाँ के प्रभावितों की जो जमीन गयी, जो लोग बेरोजगार हुये उनको कुछ रोजगार मिले। इस संबंध में रेलवे विकास निगम को जल्द संज्ञान लेना चाहिए। यदि निर्माण कार्य कर रही कम्पनियों इसका संज्ञान नहीं लिया तो उनके विरुद्ध  स्थानीय प्रभावितों और बेरोजगारों के साथ मिलकर आगे की रणनीति तय की जायेगी।

रेलवे लाइन का निर्माण कर रही कम्पनियों द्वारा रेलवे प्रभावितों और स्थानीय बेरोजगारों की अनदेखी को लेकर 1 नवम्बर को करेंगे सांकेतिक धरना - भरत चौधरी रेलवे लाइन का निर्माण कर रही कम्पनियों द्वारा रेलवे प्रभावितों और स्थानीय बेरोजगारों की अनदेखी को लेकर 1 नवम्बर को करेंगे सांकेतिक धरना - भरत चौधरी Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on October 29, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.