हरियाणा से आया सड़े गले मुर्गों का ट्रक रोका स्थानीय लोगों ने, पुलिस के किया सुपुर्द



हरियाणा से आया सड़े गले मुर्गों का ट्रक रोका स्थानीय लोगों ने, पुलिस के किया सुपुर्द

ब्यूरो : केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़ 

रूद्रप्रयाग। कोरोना काल में जहां पहाड़ों में लगातार कोरोना का कहर जारी है वही इसकी रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग, जिला प्रशासन और पुलिस महकमा लगातार लोगों को स्वच्छता से लेकर  सोशल दूरी  मास्क  और  कोविड-19  का टेस्ट  करवाने के लिए जागरूक कर रहे हैं लेकिन हरियाणा से उत्तराखंड के पहाड़ी गांव, कस्बों और शहरों में धड़ल्ले से सड़े गले और बीमार मुर्गों से भरे ट्रक यहां पहुंच रहे हैं मगर इन्हें कहीं भी कोई रोक नहीं रहा है। जबकि जो व्यक्ति इन मुर्गों को यहां पहुंचा रहे हैं वह तो ना कोरोनावायरस करवा रहे हैं और ना ही कहीं उनकी जांच की जा रही है ऐसे में जहां एक तरफ  लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है  वही  पहाड़ो तक कोरोनावायरस  फैलाने में भी गए महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं, हैरानी की बात तो यह भी है हरियाणा से लेकर उत्तराखंड और फिर पहाड़ के दूरस्थ गांवों तक पुलिस के सैकड़ों बेरियल लगे हुए हैं बावजूद क्यों इन्हें रोका नहीं जा रहा है यह पुलिस की कार्यशैली पर बड़ा प्रश्न चिन्ह खड़ा करती है।


रुद्रप्रयाग में आज हरियाणा से आया सड़ा-गला और बीमार मुर्गों से भरा ट्रक जब केदारघाटी की तरफ प्रवेश कर रहा था तो भारी दुर्गंध मार रहा था जबकि मुर्गों की हालत काफी खराब थी कहीं मुर्गे तो ट्रक में ही मरे हुए थे ऐसे में स्थानीय युवा व सभासद सुरेंद्र सिंह रावत, लक्ष्मण कप्रवान, विकास डिमरी, शैलेंद्र गोस्वामी, जिला पंचायत सदस्य  नरेंद्र बिष्ट, अजय पँवार, प्रकाश रावत आदी लोगो ने इस ट्रक को रोका और पुलिस तथा स्वास्थ्य विभाग को इसकी सूचना दी। हैरानी की बात यह है ट्रक ड्राइवर हरिजिंन्द्र सिंह (52)  हरियाणा ने मुर्गों का फर्जी मेडिकल बना रखा था जिसमें ना तो किसी सरकारी डॉक्टर अथवा अस्पताल की मोहर और संस्थान का नाम था और ना ही मुर्गों की संख्या। सड़े गले मुर्गों की सप्लाई हर रोज पहाड़ों में की जा रही है जिससे यहां के लोगों के स्वास्थ्य के साथ बड़ा खिलवाड़ किया जा रहा है। स्थानीय लोगों ने मांग की है कि लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने वाले आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए साथ ही भविष्य में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो इस पर पुलिस और प्रशासन को विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।


कोतवाली रुद्रप्रयाग से सब इंस्पेक्टर विजय प्रताप राही  मौके पर पहुंचे और उन्होंने सड़े गले बीमार मुर्गों से भरे ट्रक को कब्जे में  लेकर चिकित्सकीय परीक्षण के लिए भेज दिया है। विजय प्रताप शाही ने बताया कि चिकित्सकीय परीक्षण के बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी

हरियाणा से आया सड़े गले मुर्गों का ट्रक रोका स्थानीय लोगों ने, पुलिस के किया सुपुर्द हरियाणा से आया सड़े गले मुर्गों का ट्रक रोका स्थानीय लोगों ने, पुलिस के किया सुपुर्द Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on September 05, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.