पोखरी ब्लाक मुख्यालय के अतिक्रमण पर मौन क्यों हैं जिम्मेदार, 300 से अधिक अतिक्रमणकारियों की सूची तहसील प्रशासन के पास लम्बित



पोखरी ब्लाक मुख्यालय के अतिक्रमण पर मौन क्यों हैं  जिम्मेदार, 300 से अधिक अतिक्रमणकारियों की सूची तहसील प्रशासन के पास लम्बित




सन्दीप बर्त्वाल/केदारखण्ड एक्सप्रेस 

पोखरी। पोखरी ब्लाक मुख्यालय में लम्बे समय से तहसील प्रशासन की नाक के नीचे सरकारी भूमि पर लगातर अतिक्रमण जारी है, लेकिन कार्यवाही के नाम पर जिम्मेदार मौन धारण किये हुए हैं। एसे में अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद हैं। मसलन विकास कार्यों को धरातल पर उतरने में भारी दिक्कतो का समान करना पड़ रहा है। 


आपको बताते चले पोखरी मुख्यालय में लोक निर्माण विभाग की सड़क और उसके अगल बगल 300 से अधिक लोगों ने सरकारी भूमि पर आतिक्रमण कर रखा है। लोनिवि ने अतिक्रमण हटाने के लिये सभी अतिक्रमणकारियों की सूची तहसील प्रशासन  को पिछले वर्ष जनवरी 2019 में  सौप दी है, लेकिन तहसील प्रशासन एक वर्ष गुजर जाने के बाद भी क्यों कोई कार्यवाही नही कर रहा है, यह तहसील प्रशासन की कार्यशैली पर गम्भीर प्रश्न खडे करती है, बताया जा रहा है कि अतिक्रमणकारियों में कुछ राजनीतिक रसूकदार लोग हैं जिनपर प्रशासन हाथ डालने से कतरा रहा है।  


लोक निर्माण विभाग नही कर पा रहा  विकास कार्य 


पोखरी बाजार और उसके नजदीकी इलाकों में अतिक्रमणकारियों द्वारा लगातार अतिक्रमण किए जाने से लोक निर्माण विभाग के विकास कार्य ठप पड़े हैं लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता कृष्ण कुमार ने बताया कि सड़क में  लगातार अतिक्रमण होने से वे पेंटिंग का कार्य कर पा रहे हैं, क्योंकि जहां पर वह पेंटिंग कर रहे हैं वहां अतिक्रमणकारियों द्वारा पानी गिराया जा रहा है जिससे सड़क जल्दी उखड़ जा रही है इसके अलावा अतिक्रमण कारियों द्वारा सड़क के स्कपर पर बंद किए हुए हैं जिससे पूरा पानी सड़क पर बह रहा है और उससे पूरी सड़क उखड़ कर गडडो   के रूप में तब्दील हो जा रही है, जबकि बरसाात के सड़कें तालाब का रूप ले लेती हैं । हालांकि लोक निर्माण विभाग द्वारा तहसील प्रशासन को 300 से अधिक अतिक्रमणकारियों की सूची पिछले वर्ष सौंपी गई थी लेकिन अब तक उन पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है जिस कारण सड़क पर डामरीकरण का कार्य नहीं हो पा रहा है जिससे सड़कों की खस्ताहाल स्थिति बनी हुई है। जो हर वक्तत दुर्घटनाओंको न्योता दे रही है।


अतिक्रमण हटाने के लिये एस डीएम ने की कमेठी गठित, पर पुराने अतिक्रमण पर नही होगी कार्यवाही


पोखरी में नवनियुक्त उप जिलाधिकारी सुधीर कुमार ने कहा की अभी उन्हें अतिक्रमण को लेकर अधिक जानकारी नही है लेकिन पहले चरण में सड़को को बाधित करने वाले अतिक्रमण पर कारवाही की जायेगी, इसके लिए संबंधित विभागों की एक कमेटी बनाई गई है जो जल्द सर्वे कर  अतिक्रमण को चिन्हीत करेगी।हालाकि उन्होने यह भी कहा की वे पुराने अतिक्रमण पर फिलहाल कार्यवाही नहीं करेंगे।



एसे तो बढ़ता रहेगा अतिक्रमणकारियों का हौसला


पोखरी क्षेत्र में लंबे समय से सरकारी भूमि पर अतिक्रमणकारी  सेध लगा रहे हैं और यह सब कुछ प्रशासन की आंखों के सामने हो रहा है लेकिन जिस वक्त अतिक्रमण की शुरुआत होती है उस वक्त क्यों कोई कार्यवाही नहीं की जाती यह भी अपने आप में एक बड़ा सवाल है? लेकिन जिस तरह से अतिक्रमणकारियों को पोखरी में खुली छूट मिली हुई है उससे तो यही लगता है की आने वाले दिनों में और भी अतिक्रमण होता रहेगा और कार्यवाही के नाम पर जिम्मेदार आंख मूंदे रहेंगे। बहरहाल तहसील प्रशासन की सुस्ती से अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद हैं । देखना होगा आगे क्या कार्यवाही की जाती है।

पोखरी ब्लाक मुख्यालय के अतिक्रमण पर मौन क्यों हैं जिम्मेदार, 300 से अधिक अतिक्रमणकारियों की सूची तहसील प्रशासन के पास लम्बित पोखरी ब्लाक मुख्यालय के अतिक्रमण पर मौन क्यों हैं  जिम्मेदार, 300 से अधिक अतिक्रमणकारियों की सूची तहसील प्रशासन के पास लम्बित Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on September 18, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.