ब्रेकिंग न्यूज़ : रूद्रप्रयाग में फिर फूटा कोरोना बम, अगस्तमुनि में एक की बिल्डिंग के 14 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले




ब्रेकिंग न्यूज़ :  रूद्रप्रयाग  में फिर फूटा कोरोना बम, अगस्तमुनि में एक की बिल्डिंग के 14 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले 


ब्यूरो: केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़ 


रुद्रप्रयाग। जनपद में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है, लगातार कोरोना का धमाका हो रहा है जिससे पूरा जिला दहल रहा रहा है। आज पुनः कोरोना के 26 नये  केस आए  हैं। जिनमें 14 केस अगस्त मुनि नगर पंचायत क्षेत्र के अंतर्गत एक ही बिल्डिंग से आए हैं। 


अगस्त मुनि की जिस बिल्डिंग से 14 के पॉजिटिव आए हैं ,इस बिल्डिंग की एक महिला स्वास्थ्य कर्मी बीते दिनों कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी जिसके बाद पूरी बिल्डिंग मैं निवासरत लोगों के कोरोना  टेस्ट किया गया था जिनमें से 14 केस पॉजिटिव निकले हैं। 14 लोगों के कोरोना पॉजिटिव आने से अगस्त मुनि में हड़कंप मच गया है आलम यह है कि व्यापारियों ने एहतियात के तौर पर आज अपने व्यापारिक प्रतिष्ठानों को पूरी तरह से बंद कर दिया है। 


जबकि 12 केस जनपद के अन्य हिस्सों से आए हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी पॉजिटिव लोगों को आइसोलेट  कर दिया गया है। जबकि नगर पंचायत द्वारा नगर क्षेत्र में एहतियातन अब लोगों के लगातार कोरोना के टेस्ट किये जा रहे हैं। 


 जनपद में कोरोना  का संक्रमण अपना पांव पसारता जा रहा है लेकिन जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा कोरोना संक्रमण रोकने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की लचर कार्यप्रणाली का आलम यह है कि दिन प्रतिदिन कोरोना संक्रमण विकराल रूप ले रहा है। लेकिन जिन क्षेत्रों में लोग कोरोनापॉजिटिव  पाए जा रहे हैं वहां ना तो सैनिटाइजिंग किया जा रहा है और ना ही किसी तरह से छिड़काव, ऐसे में कैसे कोरोना का वायरस खत्म होगा यह बड़ा सवाल है?


बिना लक्ष्मण के कोरोना पॉजिटिव आए जयमंडी गांव की नही ले रहा प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा सुध


आपको बताते चलें कि बीते दिनो जयमंडी गांव में बिना लक्षण के 40 लोगों को कोरोना पॉजिटिव बताया गया था। पॉजिटिव आये लोगों को कोटेश्वर स्थित अस्पताल में एडमिट किया गया था वही गांव के अन्य लोगों को होम क्वॉरेंटाइन किया गया है जबकि पूरे गांव को कंटेनमेंट जोन घोषित किया जा चुका है। ऐसे में गांव की आर्थिक रूप से स्थितियां पूरी तरह से चरमरा ने लगी हैं। गौरतलब है कि जयमंडी गांव कृषि प्रधान गांव है यहां के लोगों का रोजगार दूध पशुपालन मुर्गा पालन सब्जी उत्पादन आदि पर चलता है जिसका बाजार रुद्रप्रयाग ही है लेकिन यहां के लोगों के कोरोना  पॉजिटिव बताए जाने से यहां का कारोबार पूरी तरह से ठप हो गया। जबकि लोगों के सामने गाय भैंसों को चारा खिलाने की भी समस्या पैदा हो गई। ग्रामीणों का आरोप है कि जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा गांव के प्रति उदासीन रवैया अपनाए हुए हैं। जहां गांव के 40 लोगों को कोरोना पॉजिटिव  बताये जाने के बाद गांव को न तो सैनिटाइजिंग किया  गया है और ना ही ग्रामीणों की सुध लेने कोई आया है। स्थितियां यह है कि ग्रामीणों के पास न तो मास्क हैं और ना ही सैनिटाइजर। ऐसे में कैसे ग्रामीण खुद का बचाव करेंगे और अन्य लोगों पर कोरोना संक्रमण होने से रोकेंगे यह अपने आप में बड़ा सवाल है, और स्वास्थ्य विभाग की लचीली कार्यशैली पर भी गंभीर प्रश्न खड़े करता है ?


 जिस कोरोना को लेकर सरकार लाखों करोड़ों रुपए का बजट के वारे न्यारे कर रहा है उसी कोरोनाकाल में  ना तो कोरोना संक्रामित व्यक्तियो को मास्क दिए जा रहे हैं ना तो सैनिटाइजिंग। इसी तरह के लुंज पुंज व्यवस्थाएं रही तो आने वाले दिनों में कोरोना का और भयावह रूप हमारे सामने होगा। जरूरत है समय रहते हुए इस तिथियों को काबू करने की।

ब्रेकिंग न्यूज़ : रूद्रप्रयाग में फिर फूटा कोरोना बम, अगस्तमुनि में एक की बिल्डिंग के 14 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले ब्रेकिंग न्यूज़ :  रूद्रप्रयाग  में फिर फूटा कोरोना बम, अगस्तमुनि में एक की बिल्डिंग के 14 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on September 06, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.