ना दो गज की दूरी, न मुंह पर मास्क। भाजपा के विधायक ही उड़ा रहे हैं कोविड-19 के नियमों की धज्जियां


ना दो गज की दूरी, न मुंह पर मास्क।  भाजपा के विधायक ही उड़ा रहे हैं कोविड-19 के नियमों की धज्जियां

नवीन चंदोला/ केदारखंड एक्सप्रेस

थराली। कोरोना महामारी से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग और भीड़ के बीच मास्क का प्रयोग करना जरूरी है, बकायदा बिना मास्क के सार्वजनिक स्थानों पर जाना पर जुर्माने के साथ साथ जेल भी है। लेकिन सत्ता के नशे में मदहोश भाजपा के विधायक को न कानून का डर है अन्ना कोरोना के संक्रमण का तभी तो थराली की विधायक मुन्नी देवी साह जनता के बीच बिना मास्क और भीड़ का काफिला लेकर चल रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संबोधन के जरिये लोगों से बार-बार कोरोना से बचाव को लेकर 2 गज की दूरी और मास्क को अनिवार्य रूप से पहनने की अपील कर चुके हैं । राज्य सरकारें, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस प्रशासन भी लगातार कोरोना वायरस से बचाव के नियमों से लोगों को जागरूक कर रहे हैं। लेकिन लगता है खुद बीजेपी के ही विधायक कोरोना के नियम कायदों से बेखबर हैं। कोरोना से बचाव के साथ ही भारत सरकार की दो वर्ष की उपलाधियाँ इन दिनो संकल्प पत्र के जरिये आमजन तक पहुंचा रहे हैं। लेकिन इन सुरक्षात्मक उपायों का प्रचार-प्रसार करने के साथ ही गांव, घरों के लोगों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए प्रेरित करने वाले जन प्रतिनिधि ही नियमों को ताक पर रखकर अपने साथ ही साथ आम जनता के स्वास्थ्य को भी खतरों में डालने पर आमादा हैं। गत शनिवार को थराली ब्लाक के सोल क्षेत्र में भ्रमण पर थराली विधायक गयी थी तो वहीं सोमवार को ब्लाक मुख्यालय देवाल में विधायक निधि से देवाल में लगने वाली सोलर लाइट के उद्घाटन समारोह में थराली विधायक पहुंची थी, इस तरह के कार्यक्रमों में जिस तरह से थराली की विधायक मुन्नी देवी शाह बिना सामाजिक दूरी का पालन करते हुए बिना मास्क पहने ही लोगो के बिच पहुच रही है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर लॉकडाउन उलंघन ओर सामाजिक दूरी का पालन नही किये जाने पर देहरादून में हुए मुकदमे के बाद विपक्षी कांग्रेस को भी बैठे बिठाए बड़ा मुद्दा मिल गया है। 





थराली ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष देवी जोशी , प्रदेश सचिव उर्मिला बिष्ट ,पूर्व प्रदेश सचिव विनोद रावत ने बताया कि जिस तरह सरकार ने जनहित के मुद्दों पर सांकेतिक उपवास कर रहे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर मुकदमे दर्ज किए हैं ऐसे में सरकार सामाजिक दूरी का पालन नही किये जाने और मास्क न पहनने पर अपनी सरकार के विधायकों पर भी मुकदमा दर्ज करके दिखाए ,अगर सरकार निष्पक्ष है तो अपने विधायको को भी सामाजिक दूरी का पालन करवाये वरना पूर्व मुख्यमंत्री सहित दर्जनों कांग्रेसियों पर किये गए मुकदमे से तो यही लगता है कि सरकार विपक्ष की आवाज को दबाने का कार्य कर रही हैं एक ओर पुलिस लोगों से सामाजिक दूरी बनाने की अपील कर रही है वहीं मास्क न पहनने पर लोगों के चालान तक काटे जा रहे हैं। लेकिन लगता है खुद बीजेपी के ही माननीय तो अपनी जनता के बीच अपनी ही चलाने को तो स्वतंत्र हैं।शायद ऐसा ही कुछ दिखाना एवं बताना चाह रही हैं थराली की विधायक जी। 





कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संदेशों को आमजन तक पहुंचाने की जिम्मेदारी भी इन्ही माननीयों को दी गई है ,कोरोना से बचाव के साथ ही भारत सरकार की दो वर्ष की उपलाधियाँ भी यही माननीय संकल्प पत्र के जरिये आमजन तक पहुंचा रहे हैं। लेकिन इन सुरक्षात्मक उपायों का प्रचार-प्रसार करने के साथ ही गांव, घरों के लोगों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए प्रेरित करने वाले जन प्रतिनिधि ही नियमों को ताक पर रखकर अपने साथ ही साथ आम जनता के स्वास्थ्य को भी खतरों में डालने पर आमादा हैं। गत शनिवार को थराली ब्लाक के सोल क्षेत्र में भ्रमण पर थराली विधायक गयी थी तो वहीं सोमवार को ब्लाक मुख्यालय देवाल में विधायक निधि से देवाल में लगने वाली सोलर लाइट के उद्घाटन समारोह में थराली विधायक पहुंची थी ,इस तरह के कार्यक्रमों में जिस तरह से थराली की विधायक मुन्नी देवी शाह बिना सामाजिक दूरी का पालन करते हुए बिना मास्क पहने ही इन में सामिल हुई उस से तो लगता यही है कि वे कोरोना के प्रति पूरी तरह से लापरवाह हैं।





वहीं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर लॉकडाउन उलंघन ओर सामाजिक दूरी का पालन नही किये जाने पर देहरादून में हुए मुकदमे के बाद विपक्षी कांग्रेस को भी बैठे बिठाए बड़ा मुद्दा मिल गया है ,थराली ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष देवी जोशी ,प्रदेश सचिव उर्मिला बिष्ट ,पूर्व प्रदेश सचिव विनोद रावत ने बताया कि जिस तरह सरकार ने जनहित के मुद्दों पर सांकेतिक उपवास कर रहे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर मुकदमे दर्ज किए हैं ऐसे में सरकार सामाजिक दूरी का पालन नही किये जाने और मास्क न पहनने पर अपनी सरकार के विधायकों पर भी मुकदमा दर्ज करके दिखाए ,अगर सरकार निष्पक्ष है तो अपने विधायको को भी सामाजिक दूरी का पालन करवाये वरना पूर्व मुख्यमंत्री सहित दर्जनों कांग्रेसियों पर किये गए मुकदमे से तो यही लगता है कि सरकार विपक्ष की आवाज को दबाने का कार्य कर रही हैं




ना दो गज की दूरी, न मुंह पर मास्क। भाजपा के विधायक ही उड़ा रहे हैं कोविड-19 के नियमों की धज्जियां ना दो गज की दूरी, न मुंह पर मास्क।  भाजपा के विधायक ही उड़ा रहे हैं कोविड-19 के नियमों की धज्जियां Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on July 06, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.