स्वयं को गौरीकुण्ड व्यापार संघ अध्यक्ष बताकर सीएम को भेजा पत्र महाराष्ट्र से केदारनाथ यात्रा पर आए यात्रियों की थी शिकायत : केदारनाथ यात्रा पड़ाव गौरीकुण्ड का मामला, डीएम ने व्यापारी के खिलाफ जांच के दिए आदेश


स्वयं को गौरीकुण्ड व्यापार संघ अध्यक्ष बताकर सीएम को भेजा पत्र

महाराष्ट्र से केदारनाथ यात्रा पर आए यात्रियों की थी शिकायत : केदारनाथ यात्रा पड़ाव गौरीकुण्ड का मामला, डीएम ने व्यापारी के खिलाफ जांच के दिए आदेश

व्यापारी के कृत्य से प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल में आक्रोश, सर्व सम्मति से गौरीकुण्ड व्यापार संघ के अरविंद गोस्वामी हैं अध्यक्ष,  व्यापारी के खिलाफ की जाय कठोर कार्यवाही: गोस्वामी


ब्यूरो: केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़ 
रुद्रप्रयाग। केदारनाथ यात्रा के अहम पड़ाव गौरीकुण्ड में महाराष्ट्र के चार यात्रियों के आने की सूचना के बाद मामले में डीएम ने जांच बिठा दी है। साथ ही सीएम को पत्र भेजकर स्वयं को गौरीकुण्ड व्यापार संघ का अध्यक्ष बताये जाने के मामले में भी डीएम ने पुलिस अधीक्षक को कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। व्यापारी के इस कृत्य से प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल में भी आक्रोश बना हुआ है।








दरअसल, दो दिन पूर्व केदारनाथ यात्रा पड़ाव के गौरीकुण्ड स्थित व्यापारी कुलानंद गोस्वामी ने मुख्यमंत्री सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत को ज्ञापन भेजा। पत्र में व्यापारी ने स्वयं को व्यापार संघ का अध्यक्ष बताकर गौरीकुण्ड में महाराष्ट्र के चार यात्रियों के आने की सूचना दी। साथ ही कहा कि बिना मेडिकल जांच के तीर्थयात्री गौरीकुण्ड पहुंच गए, जिससे प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं। तीर्थयात्रियों के पहुंचने से स्थानीय जनता में कोरोना महामारी का खतरा बना हुआ है। पत्र की प्रतिलिपि जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को भी भेजी गई। इसके बाद मामला मीडिया में आया और सभी समाचार पत्रों ने व्यापारी की खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया। खबर प्रकाशित होने के बाद डीएम ने जहां अपर जिलाधिकारी को जांच के आदेश दिए। वहीं व्यापार संघ गौरीकुण्ड के अध्यक्ष अरविंद गोस्वामी ने जिलाधिकारी से मुलाकात की और ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि व्यापारी कुलानंद गोस्वामी ने फर्जी मुहर लगाकर स्वयं को व्यापार संघ अध्यक्ष बताया है। मामले में उनकी ओर से जब गौरीकुण्ड चौकी इंचार्ज से पता किया कि गौरीकुण्ड में महाराष्ट्र से चार यात्री पहुंचे है तो चौकी इंचार्ज ने बताया कि कोई भी महाराष्ट्र से तीर्थयात्री यहां नहीं पहुंचे हैं।

व्यापार संघ अध्यक्ष गौरीकुण्ड अरविंद गोस्वामी ने जिलाधिकारी से कहा कि व्यापारी कुलानंद गोस्वामी ने गलत तरीके लोगों को गुमराह करने की कोशिश की है। अपने आप को व्यापार संघ का अध्यक्ष बताकर प्रशासन को भी गुमराह किया है। ऐसे व्यक्ति के खिलाफ कठोर कार्यवाही अमल में लाई जानी चाहिए। वहीं प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल के जिलाध्यक्ष अंकुर खन्ना ने बताया कि पिछले वर्ष पांच मई 2019 को सर्व सम्मति से गौरीकुण्ड व्यापार मण्डल में अरविंद गोस्वामी को नगर अध्यक्ष एवं महामंत्री प्रकाश गोस्वामी को चुना गया था। जिसके प्रस्ताव की प्रतिलिपि जिला उद्योग व्यापार मण्डल को उपलब्ध कराई थी। जिसके तहत तीन वर्ष तक नवनिर्मित कार्यकारिणी गौरीकुण्ड व्यापार मण्डल का प्रतिनिधित्व करेगी। उन्होंने कहा कि जिस व्यापारी ने फर्जी मुहर लगाकर मुख्यमंत्री को पत्र भेजा। उसके खिलाफ कार्यवाही को लेकर जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन भेजा गया है और शीघ्र कार्यवाही की मांग की गई है, जिससे भविष्य में कोई भी व्यापारी प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल की मुहर का दुरूपयोग न करें। 





वहीं मामले में जिलाधिकारी वंदना चैहान ने कहा कि पुलिस अधीक्षक को कार्यवाही के लिए कहा गया है। जिस व्यापारी ने प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल का नगर अध्यक्ष गौरीकुण्ड की फर्जी मुहर लगाकर सीएम को ज्ञापन भेजा है। ऐसे में व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। इधर, पुलिस अधीक्षक नवनीत सिंह भुल्लर ने कहा कि उक्त व्यापारी ने फर्जी मुहर बनाकर व्यापारियों को गुमराह करने की कोशिश की जा रही है। मामले में जांच की जा रही है और दोषी के खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।





स्वयं को गौरीकुण्ड व्यापार संघ अध्यक्ष बताकर सीएम को भेजा पत्र महाराष्ट्र से केदारनाथ यात्रा पर आए यात्रियों की थी शिकायत : केदारनाथ यात्रा पड़ाव गौरीकुण्ड का मामला, डीएम ने व्यापारी के खिलाफ जांच के दिए आदेश स्वयं को गौरीकुण्ड व्यापार संघ अध्यक्ष बताकर सीएम को भेजा पत्र   महाराष्ट्र से केदारनाथ यात्रा पर आए यात्रियों की थी शिकायत : केदारनाथ यात्रा पड़ाव गौरीकुण्ड का मामला, डीएम ने व्यापारी के खिलाफ जांच के दिए आदेश Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on June 09, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.