बिजली-पानी तक की बुनियादी सुविधाएं नहीं क्वारानटाइन सेंटर में, प्रवासी परेशान


बिजली-पानी तक की बुनियादी सुविधाएं नहीं क्वारानटाइन सेंटर में, प्रवासी परेशान 

-नवीन चन्दोला/ केदारखंड एक्सप्रेस 
चमोली थराली। नगर पंचायत थराली के वार्ड न०1 भैंटा में क्वारानटाइन सेन्टर प्राथमिक विद्यालय भैंटा में न बिजली की सुविधाएं हैं और न पानी की।  भोजन और अन्य व्यवस्थाओं की बात तो बहुत  दूर की बात है। 
नगर पंचायत थराली के भैंटा वार्ड में तीन व्यक्ति 3 मई को सुबह चार बजे देहरादून से थराली अपने घर पहुंचे थे। उन्हें 48 घंटे बाद 5 मई को शाम 6 बजे सामाजिक कार्यकर्ता सन्दीप रावत ने फोन करके क्वारानटाइन् सेंटर भेज दिया। लेकिन 5 दिनों के बाद भी प्राथमिक विद्यालय भैंटा में लाइट और पानी तक की सुविधा मुहैया नहीं हो पाई है। विद्यालय जंगल में होने के कारण जंगली जानवरों का भय  हर वक्त बना रहता है।  प्रवासी भूपाल सिंह, रोहित कुमार, कैलाश चन्दोला सहित चार लोग यहाँ क्वारानटाइन हो रखे हैं लेकिन सुविधाओं के नाम पर कुछ भी नहीं है। प्रवासी भूपाल सिंह का कहना हैं उन्हें डाक्टर ने होम क्वारानटाइन की सलाह दी थी लेकिन सभासद ने आपसी मतभेद के कारण जबरन उन्हें प्राथमिक विद्यालय में रखा हैं जबकि अन्य लोग भी गांव में आए हैं जो अपने घर पर ही होम क्वारानटाइन हैं। वहीं कैलाश चन्दोला का कहना हैं कि मुझे सभासद द्वारा जबरन प्राथमिक विद्यालय भैंटा में रखा हैं जबकि डाक्टर ने होम क्वारानटाइन के लिए कहा हैं।

पूरे मामले पर उपजिलाधिकारी थराली किशन सिंह नेगी का कहना हैं कि सभासद और ग्राम प्रधान अपने गांवों के क्वारानटाइन  सेंटर में रह रहे लोगों के लिए भोजन का इंतजाम करें उसके बाद बिल बना कर प्रशासन  को दे। बाद में प्रशासन स्तर से भुगतान किया जाएगा।
बिजली-पानी तक की बुनियादी सुविधाएं नहीं क्वारानटाइन सेंटर में, प्रवासी परेशान बिजली-पानी तक की बुनियादी सुविधाएं नहीं क्वारानटाइन सेंटर में, प्रवासी परेशान Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on May 10, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.