सरकार के उपेक्षित रवैये से प्रधानों ने दी सामुहिक इस्तीफे की धमकी


सरकार के उपेक्षित रवैये से प्रधानों ने दी सामुहिक इस्तीफे की धमकी 
@नवीन चंदोला/केदारखण्ड एक्सप्रेस 
थराली।  शुक्रवार को थराली विकासखंड सभागार में हुई बैठक में  प्रधान संघ ने सरकार के उपेक्षित रवैये से दुखी होकर  सामूहिक इस्तीफे की धमकी  दी है। ग्राम प्रधानों ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कोरोना के इस संकट काल में  ग्राम प्रधानों को जिम्मेदारी तो दे दी गई है, लेकिन प्रवासियों के रहने-खाने स्वास्थ्य  की सुविधा के लिए सरकार की तरफ से एक भी पैसा ग्राम प्रधानों को अभी तक जारी नहीं किया गया है  जिससे प्रधानों को बिना बजट के व्यवस्थाये जुटाने में भारी कठिनाइयों का सामना करना पड रहा है।





ग्राम प्रधान संघ ने यहां आयोजित बैठक में कहा कि क्वॉरेंटाइन सेंटर में रहने वाले प्रत्येक प्रवासी का जिम्मा जब ग्राम प्रधान के भरोसे है तो सरकार को प्रत्येक ग्राम प्रधान को संसाधन भी उपलब्ध कराना चाहिए। साथ ही ग्राम प्रधानों को करोना वारियर्स घोषित करने के 10 लाख का बीमा भी सुनिश्चित करें। क्वारानटाइन  सेंटरों पर आशा, आंगनबाड़ी, ग्राम प्रहरी की आवश्यक नियुक्ति की जाए। उन्होंने  आरोप लगाया कि सरकार मीडिया-सोशल मीडिया के माध्यम से बार-बार यह कह रही है कि क्वारानटाइन  सेंटर पर प्रवासियों की व्यवस्था के लिए ग्राम प्रधानों को पैसा रिलीज किया गया है जबकि हकीकत यह है कि पूर्व में करोना बचाव के लिए सैनिटाइजिंग का ₹10000 भी ग्राम प्रधानों को 2 माह के बाद भी नहीं मिल पाया। 





वही इस पूरे मामले में खंड विकास अधिकारी अशोक कुमार शर्मा का कहना है कि पूर्व में गांव की साफ-सफाई और सैनिटाइज के लिए पैसा सीधे सप्लायर के खाते में आएगा। इसके लिए ग्राम प्रधान संबंधित सप्लायर के नाम बिल अकाउंट नंबर खंड विकास अधिकारी कार्यालय में उपलब्ध कराए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि क्वारानटाइन सेंटर में रहने वाले प्रवासियों के भोजन इत्यादि की व्यवस्था उनके घर से की जानी है। इस तरह की किसी भी व्यवस्था के लिए सरकार ने किसी तरह की धनराशि सीधे प्रधानों के खाते में अवमुक्त नहीं की है। जिन क्वारानटाइन  सेंटरों पर प्रवासियों को भोजन की व्यवस्था उनके घर से नहीं हो पा रही है उनके लिए भोजन की व्यवस्था ग्राम प्रधान द्वारा भोजन पर व्यय बिल तहसील कार्यालय में जमा करने होंगे ताकि आपदा प्रबंधक के तहत धनराशि अवमुक्त की जा सके। इस अवसर पर ग्राम प्रधान प्रेम शर्मा,   गंभीर रावत, दीपा देवी, कैलाश देवराणी, गुड्डी देवी, सरिता देवी, विनोद राणा आदि मौजूद थे




सरकार के उपेक्षित रवैये से प्रधानों ने दी सामुहिक इस्तीफे की धमकी सरकार के उपेक्षित रवैये से प्रधानों ने दी सामुहिक इस्तीफे की धमकी Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on May 30, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.