Breaking News

Friday, 15 May 2020

सड़क निर्माण के नाम पर जनता के साथ मात्र छलावा, आधी- अधूरी सड़को के निर्माण से गाँव पडे है खतरे में


सड़क निर्माण के नाम पर जनता के साथ मात्र छलावा, आधी- अधूरी सड़को के निर्माण से गाँव पडे है खतरे में 

-राजेन्द्र असवाल/केदारखंड एक्सप्रेस न्यूज 
पोखरी। सरकार ने प्रत्येक गांव के अंतिम छोर के व्यक्ति को राष्ट्र की मुख्यधारा में लाने के लिए सड़क- संयोजन उपलब्ध कराने की नीति बनायी गयी है। परन्तु जनपद चमोली के विकास खंड पोखरी में राज्य सरकार की सड़के हो या केन्द्र सरकार की,सड़क निर्माण के नाम पर जनता के साथ मात्र छलावा किया जा रहा है। आधी- अधूरी सड़को का निर्माण कर जनता को यातायात का लाभ देंने के बजाय उनके जल, जंगल व जमीन को नुकसान पहुंचाया गया है। 

यहां लोनिवि पोखरी डिविजन की सड़को  पर नजर दौड़ायी जाय तो सड़को के बुरे हाल है। जो सड़के चालू हालात में हैं,उन पर जोखिमभरा सफर करने को मजबूर है, और जो सड़के निर्माणाधीन है, वे एक दशक  पूर्व से अधिक समय से लंबित पड़ी है। इसमें से प्रखंड पोखरी की दस किमी0 पोखरी -हरिशंकर सड़क बनखुरी से हरिशंकर के लिए जान लेवा बनी है, यही नही सड़क के घिटया निर्माण के कारण इस सड़क एक गाड़ी, गत वर्ष अक्टूवर में  दुर्घनाग्रसत होने से पांच लोगो की मौके पर ही मौत हो गयी थी, जबकि अन्य लोग घायल हो गये थे। वहीं आली कांडई-लंगासू दस किलोमीटर मोटर मार्ग का निर्माण दस वर्ष  बीतने  के बाद भी पूरा नही हो पाया है।  विभागीय ठेकेदारो ने सड़क का आधा अधूरा  कार्य करने के बाद  कार्य बंद कर दिया। विभाग है कि इसके आगे की कार्यवाही करने के बजाय चुपी साद कर बैठ गया ।  जिस वजह ग्रामीणों को इस सड़क का कोई लाभ मिलता नजर नही आ रहा है। हालांकि विभाग का कहना है कि इस सड़क पर  कार्य गतिमान है, और जैसे ही लाॅक डाउन समाप्त होगा कार्य फिर से शुरू हो जाएगा। लेकिन यह बात करते हुए उन्हें थोड़ी भी शर्म नही आयी कि लाँकडाउन तो इसी वर्ष मार्च से शुरू हुआ है। परन्तु विगत दस वर्षो से  विभाग क्या करता रहा है? 
Adbox