निस्वार्थ भाव से जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं अंकित बिष्ट


निस्वार्थ भाव से जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं अंकित बिष्ट

@संदीप बर्त्वाल/केदारखण्ड एक्सप्रेस 
चमोली। गौचर के रहने वाले अंकित बिष्ट और विभांशु बर्त्वाल और छात्रों का मानना है कि लॉकडाउन के चलते कमजोर तबके के लोगों को राशन आदि की दिक्कत हो सकती है। ऐसे में मानवता का तकाजा है कि ऐसे जरूरतमंदों तक दैनिक जरूरत की वस्तुएं पहुंचाई जाएं। जिससे लॉकडाउन की स्थिति में भी भोजन सामग्री के अभाव में कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे। 





इन युवाओं की टीम द्वारा विश्वव्यापी कोरोना वायरस के संक्रमण की विषम परिस्थिति में सेवाकार्य किया जा रहा है। इस विषम परिस्थिति में दैनिक मजदूरी करने वाले, रेहड़ी लगाने वाले,प्रवासी मजदूर, दिव्यांग व छोटे तबके के लोग जो सामान्य स्तर से जीवन यापन करते थे, लॉकडाउन उनके लिए बेहद समस्या लेकर आया है।चमोली जिले के युवाओं द्वारा जरूरतमंद लोगों को भोजन की व्यवस्था करने का क्रम लगातार जारी है। युवाओं का संकल्प है कि यह सेवा जब तक लोगों का जीवन सामान्य स्तर पर नहीं आ जाता तक तक चलती रहेगी। गौचर के युवा नर सेवा नारायण सेवा के आधार पर सेवा कार्य कर रहे हैं। जरूरतमंदों को भोजन के साथ-साथ राशन सामग्री, सब्जी, मसाला, तेल उपलब्ध कराई जा रही है।

सैकड़ों लोगों तक पहुंचाई सामग्री

उत्तराखंड के चमोली जिले में गौचर के रहने वाले युवा अंकित बिष्ट व विभांशु बर्त्वाल और उनकी युवा टीम गरीब लोगों को उनके घरों में जाकर उनकी दैनन्दिन जरूरत की वस्तुएँ उपलब्ध करवा रहे हैं। कोरोना वायरस के चलते सब कुछ बंद है। दुकान, फैक्ट्री, व्यापार पर ताला जड़ा हुआ है। ऐसे में रोजमर्रा का काम करने वालों के लिए निश्चित ही समस्या खड़ी हुई है। इस स्थिति प्रतिदिन कमाकर खाने वाले लोगों को और बाहरी प्रदेश से यहाँ कमाने आए प्रवासियों को उनके जीवन-निर्वाह में कोई परेशानी न होने पाए इसके लिए ये युवा टोली खासा जागरूक है । इस टीम ने अकेले चमोली जिले में अब तक दस हजार से अधिक मास्क का वितरण किया और सैकड़ों परिवारों तक पका हुआ भोजन पहुँचाया है। तो वहीं कई सौ लोगों को अब तक सूखी खाद्य सामाग्री का वितरण भी किया गया। व्यक्तियों की सुरक्षा की दृष्टि से ये टोली सैनेटाइजर भी बंटवा चुकी है। इस कार्य में पूरे जिले में अंकित बिष्ट की टीम अपने-अपने क्षेत्रों के हिसाब से सेवा कार्य में लगे हुए हैं। यह कोई पहला मौका नहीं है कि ये युवा टोली कार्य में आगे आयी हो बल्कि जब भी कोई एसी समस्या या आपदा आयी हो तब-तब इनकी पूरी टीम ने आगे आकर स्वत: मोर्चा संभाला है।





आपको बता दें कि अंकित बिष्ट एनएसयूआई के छात्र नेता भी हैं और उत्तराखंड प्रदेश के सबसे बड़े महाविद्यालय डी.ए.वी. कालेज देहरादून में अध्यक्ष पद की रेस में है। इनके साथ ही युवाओ में मानसी नेगी , रोशन चौधरी जय बिष्ट शुभम सिमल्टी रोहित चौधरी शामिल रहे




निस्वार्थ भाव से जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं अंकित बिष्ट निस्वार्थ भाव से जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं अंकित बिष्ट Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on May 30, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.