बदहाल क्वारनटीन सेंटर, खुले में करना पड़ रहा शौच, क्वारंटाइन हुये लोगों में प्रशासन के खिलाफ आक्रोश


बदहाल क्वारनटीन सेंटर, खुले में करना पड़ रहा शौच, क्वारंटाइन हुये लोगों में प्रशासन के खिलाफ आक्रोश

@नवीन चन्दोला/ केदारखंड एक्सप्रेस 

थराली/चमोली। ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूलों व पंचायत भवनों को क्वारंटीन सेंटर बनाया तो गया है लेकिन भवनों की बदहाल स्थिति के चलते व्यवस्थाओं की भारी कमी देखी जा रही है। स्थिति यह है कि इन क्वारानटाइन सेंटरों में शौचालय तक की व्यवस्था तक नहीं है। ऐसे में सहज ही अंदाज लगाया जा सकता है कि यहा क्वारानटाइन कैसे रह रहे होंगे।

थराली तहसील़ के कूनी-पार्था गांव में प्रवासीयों के लिए जीआईसी पार्था में बनाए गए क्वारंटीन सेंटर में मूलभूत सुविधाओं का आभाव है। जिसे लेकर यहाॅ क्वारंटाइन हुये प्रवासियों में आक्रोश व्याप्त है। वहीं क्वारंटाइन सेंटर में साफ-सफाई व सेनिटाइजेशन की व्यवस्था तो भगवान भरोसे है। आलम यह है कि शौचालय की स्थिति खराब होने के चलते लोगों को खुले में शौच करना पड़ रहा है। क्वांटाइन हुये लोगों ने  प्रशासन से व्यवस्थायें दुरूस्त करने की मांग की है। क्वारंटान सेंटर में रह रहे आनन्द नेगी ने बताया कि क्वांरटीन सेंटर में  बिजली  अनक्सर गुल रहती है। दिल्ली से पहुॅचे गोपाल सिंह ने बताया कि उन्हें यहाॅ क्वांरटाइन हुए 12 दिन हो गये हैं लेकिन अभी तक उनका स्वास्थय प्रशिक्षण नहीं किया गया है। प्रदीप पिमोली ने बताया कि कई बार इस सबंध में ग्राम प्रधान से शिकायत भी की गई, लेकिन ग्राम प्रधान द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। उन्होनें बताया कि अभी तक गांव में कुल 32 लोग देहरादून, दिल्ली, चंडीगढ समेत अन्य राज्यों से पहुंच चुके है। जिनमें से 10 लोगों को क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है। अन्य प्रवासियों को बिना स्वास्थय प्रशिक्षण के ग्राम प्रधान द्वारा होम क्वारंटाइन किया गया है, जिनमें रेड जोन से आये प्रवासी भी शामिल है।
बदहाल क्वारनटीन सेंटर, खुले में करना पड़ रहा शौच, क्वारंटाइन हुये लोगों में प्रशासन के खिलाफ आक्रोश बदहाल क्वारनटीन सेंटर, खुले में करना पड़ रहा शौच, क्वारंटाइन हुये लोगों में प्रशासन के खिलाफ आक्रोश Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on May 19, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.